सूर्यास्त के समय इन बातों पर ध्यान देने से बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

वाराणसी। सूर्योदय और सूर्यास्त दिन और रात का संधिकाल होता है। इसलिए इस समय को बेहद अहम माना जाता है। शास्त्रों में बताया गया है कि अगर हम इस समय सोये तो हमारे धन में कमी होने के साथ साथ हमारी उम्र भी कम होती है तथा स्वास्थ्य को भी नुक्सान पहुंचता है। अगर हम चाहें तो इस समय देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करके अपनी आर्थिक परेशानियों को दूर कर सकते हैं।

जिन घरों में तुलसी की नियमित रूप से पूजा होती है वहां मां लक्ष्मी की बहुत कृपा रहती है। परन्तु ध्यान रहे की तुलसी को शाम के समय स्पर्श करने से मां लक्ष्मी नाराज भी हो सकती हैं। इसल‌िए शाम में तुलसी का स्पर्श नहीं करें। देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शाम के समय तुलसी के पौधे के नीचे दीपक जला कर रखें। दीपक घी का जलाएं। अगर घी उपलब्ध नही है तो आप तिल या सरसों के तेल का भी दीपक जला सकते हैं। ध्यान रखें कि शाम के समय तुलसी के पौधे को जल न दें। कुछ लोग शाम को पहले मन्दिर में दीप जलाते है और फिर घर के बाहर तुलसी जी को दीप दिखाते हैं। जबकि शाम के समय दीप जलाने का सही तरीका यह है कि पहले तुलसी जी को दीप द‌िखाना चाह‌‌िए। इसके बाद एक दीप पूरे घर में और फ‌िर भगवान को द‌िखाते हुए पूजा घर में रखना चाह‌िए। इससे पूरे घर में सकारात्मक उर्जा बनी रहती है। ध्यान रखें कि सूर्यास्त के समय कुछ खाये पीएं न। इस समय को शास्‍त्रों में ध्यान और पूजन का समय कहा गया है। इस समय हमें सोने से बचना चाहिए। क्योंक‌ि जो इस समय सोता है देवी लक्ष्मी उस घर से रूठकर चली जाती है।

जब शाम ढल रही हो उस समय कपूर जलाकर सभी कमरों में घुमाना चाह‌िए और जलते कपूर को घर के मुख्यद्वार पर रखना चाह‌िए इससे घर में से नकारात्मक उर्जा चली जाती है ज‌िससे घर में सुख शांत‌ि और लक्ष्मी का वास होता है।