सामाजिक सरोकार के लिए यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर बेहतर काम कर रही है- लाल बहादुर चौधरी

इलाहाबाद/ पी कुमार। माघ मेले में देशभर की तमाम धार्मिक सामाजिक संस्थाएं जोर शोर से हिस्सा लेती हैं। ये संस्थाएं सामाजिक सरोकार के लिए तरह तरह की रचनात्मक कार्य करती हैं। इसी कड़ी में लखनउ की संस्था यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर ने सामाजिक जन जागरूकता के लिए स्वच्छता जागरूकता विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया।

इस अवसर पर मंझर पुर के विधायक लाल बहादुर चौधरी ने कहा कि देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान चलाया है और हम सबकी जिम्मेदारी बनती है की इस अभियान को सफल बनाने और इसे जनान्दोलन बनाने के लिए इस माघ मेला से बेहतर जगह नहीं हो सकता।

उन्होंने कहा कि पहली बार माघ मेले मे स्वच्छता देखने को मिल रहा है। यह प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा निर्देश से सम्भव हुआ है। श्री चौधरी ने कहा कि इस स्वच्छता को बनाये रखने और यहाँ से सीख लेकर अपने घर-परिवार, गाँव-क्षेत्र मे स्वच्छता बनाये रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है।

वहीं यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर की सामाजिक सरोकार में किये गये कार्यों को सराहना करते हुए कहा कि यह संस्था जन जागरूकता के लिए बेहतर कार्य कर रही है। यही नहीं बल्कि उन्होंने कहा कि चाहे स्वच्छ भारत की बात हो या पर्यावरण संरक्षण के विषय मे जन जागरूकता अभियान चलने की बात हो या प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान हो इन सभी क्षेत्रो में यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर अच्छा कार्य कर रही है।

इस अवसर पर राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव डा0 ए0के0 सिंह ने कहा कि गंगा हमारे पौराणिक ग्रन्थों मे मोक्ष दायनी नदी के रूप मे वर्णित है, यह मोक्ष दायनी नदी ही नहीं, हम सब की जीवन दायनी गंगा है, इसकी स्वच्छता तभी सम्भव है जब हम सब अपने नैतिक जिम्मेदारी के साथ स्वच्छता बनाये रखें। यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर के अध्यक्ष डा0 सत्येन्द्र कुमार ने बताया कि यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर के स्थापना वर्ष 2010 से सामाजिक जन जागरूकता के क्षेत्र मे काम कर रही है, अब तक गोरखपुर और संतकबीर नगर जिले में 5000 से अधिक पौधारोपण किया है, संस्था द्वारा गोरखपुर, संत कबीर नगर, देवरिया के 35 गाँव मे गाँधी जयन्ती एवं अम्बेडकर जयन्ती पर मलिन बस्तियों सहित अन्य स्थानों पर स्वच्छता कार्यक्रम किया है और प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के उत्तर प्रदेश पार्टनर के रूप मे संस्था ने 122 गाँव मे 10,000 से अधिक लोगो को डिजिटल साक्षर किया है,

इसके अलावा यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मीडिया सेंटर, लखनऊ द्वारा लोकतंत्र के प्रहरी मतदाता के लिए जागरूकता अभियान चलाया गया। बतौर मुख्य अतिथि हरिश्चन्द्र महाविद्यालय अंग्रेजी विभाग के अध्यक्ष डा0 हदय कांत पांडेय ने कहा कि मजबूत और स्वस्थ लोकतंत्र के लिए मताधिकार जरूरी है। स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा बनाये रखने के लिए प्रत्येक मतदाता को अपने अधिकार का प्रयोग करना चाहिये। विशिष्ट अतिथि मनोवेज्ञानिक डा0 राजेश कुमार झा ने कहा कि हमें अपना जनप्रतिनिधि का चुनाव अवश्य करना चाहिए जिसके लिए मताधिकार आवश्यक है। मुख्य वक्ता पत्रकार और शिक्षक डा0 परमात्मा कुमार मिश्र ने कहा कि यह जरूरी है कि 18 साल पूरा करने वाले युवा अपना नाम अवश्य मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करायें। उपस्थित कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिकों एवं नौजवानो ने मतदाता जागरूकता के संदेश मे बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

सामाजिक सरोकार के लिए काम कर रही संस्था यूनिवर्सल कम्युनिकेशन मिडिया सेन्टर द्वारा गंगा की स्वच्छता मे धर्म की भूमिका विषय पर आयोजित कार्यक्रम मे अन्तर्राष्ट्रीय योग गुरू एवं बाघम्बरी पीठ के उत्तराधिकारी परम पूज्य श्री आनंद गिरी जी महाराज ने कहा व्यक्ति आस्तिक हो या नास्तिक, जल ही जीवन है के सत्य को झुठला नही सकता और गंगा हमारे पौराणिक ग्रन्थों मे इसे मोक्ष दायनी, जीवन दायनी और अमृत स्वरूप माना गया है। जो जीवन मे इन सभी रूपो मे हो उसे हम माँ के रूप मे मानते है और गंगा हमारी माँ है। यह हमारे विभिन्न अवस्था और व्यवस्था को संभालने का कार्य करती हैं, गंगा की स्वच्छता तभी संभव होगा जब देश के सभी नदियों को स्वच्छ बनाये रखे इसके लिए जनान्दोलन की जरूरत है तभी हम स्वच्छता मे सफल होंगे। संस्था के उपाध्यक्ष संजय मिश्रा ने कहा कि गंगा के अस्तित्व से हम सबका अस्तित्व है, इतिहास मे किसी भी सभ्यता का उदभव व पराभव नदियों के अस्तित्व पर ही निर्भर रहा है इस कारण हमे अपने हाथों से स्वयं का विनाश नही करना चाहिए।

इस अवसर पर संस्था के कोषाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह, संजय तिवारी, शमशाद अहमद, सत्यवीर राम तिवारी, बृज किशोर तिवारी, अभिषेक मिश्रा, बेनी माधव राम तिवारी, देवेन्द्र नाथ दुबे, राम भक्त विनोद मिश्रा, छेदी लाल आदि उपस्थित रहे।