विश्व शांति और वैश्विक एकता के लिए सर्वधर्म सद्भाव जरूरी – आचार्य लोकेश मुनि

नई दिल्ली/ देव गुर्जर। अहिंसा विश्व भारती, इंटरनॅशनल सिद्धाश्रम शक्ति पीठ, दिल्ली स्टडी ग्रुप के संयुक्त प्रयासों से विश्व शांति व सद्भावना की स्थापना के उद्देश्य से ‘वासुधैव कुटुम्बकम्’ ‘विश्व एक परिवार’ कार्यक्रम  का आयोजन दिल्ली के रफ़ी मार्ग स्थित  कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ़ इंडिया में हुआ | अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक एवं प्रख्यात जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि एवं इंटरनॅशनल सिद्धाश्रम शक्ति पीठ के संस्थापक श्री राजराजेश्वर गुरु जी के सान्निध्य में आयोजित कार्यक्रम में भारत के केन्द्रीय मंत्री श्री विजय गोयल, ब्रिटेन से पधारे पूर्वी लन्दन से सांसद एवं आल पार्टी पार्लियामेंटरी ग्रुप के चेयरमैन श्री बॉब ब्लैकमैन, क्वीन के प्रतिनिधि एवं हैरो लन्दन के पुलिस कमांडेंट श्री साइमन ओवेन्स, ब्रेंट लन्दन के मेयर काउंसलर भगवान जी चौहान हैरो के पूर्व मेयर अजय मारू एवं विभिन्न धर्मों के संतों ने भाग लिया | इस अवसर पर लंदन पार्लियामेंट की ओर से ‘वर्ल्ड पीस एंड यूनिटी’ अवार्ड से सम्मानित किया गया | वर्ल्ड पीस एंड हारमनी डीवीडी का लोकार्पण भी कार्यक्रम के दौरान हुआ |

अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश एवं राजराजेश्वर जी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सारा विश्व एक परिवार है, हम सब एक ही परम ब्रह्मांड की उत्पत्ति है परन्तु अफ़सोस है कि हमने अपने आप को क्षेत्र, भाषा, धर्म, संप्रदाय, रंग के भेद की सीमाओं में बांध कर आपसी प्रेम और भाईचारे को दरकिनारे कर दिया है | इस मंच से क्षेत्र, धर्म, रंग के भेद को भुला कर वैश्विक एकता का सन्देश देने का प्रयास कर रहे है | पर्यावरण प्रदुषण से वैचारिक प्रदुषण ज्यादा खतरनाक है | हमें अपने अस्तित्व व विचारों के साथ दूसरों के अस्तित्व व विचारों का भी  सम्मान करना चाहिए |

पूर्वी लन्दन के सांसद श्री बॉब ब्लैकमैन ने कहा कि लंदन पार्लियामेंट की ओर से आचार्य लोकेश जी को ‘वर्ल्ड पीस एंड यूनिटी’ अवार्ड से सम्मानित कर हम स्वयं सम्मानित हो रहे है | भारत की बहुलतावादी संस्कृति समूचे विश्व के लिए प्रेरक है | इस समय भारत एक उभरती हुई अर्थव्यवस्था है, आने वाले समय में भारत विश्व में अहम भूमिका निभाएगा | अहिंसा विश्व भारती एवं इंटरनॅशनल सिद्धाश्रम शक्ति पीठ के ‘वासुधैव कुटुम्बकम्’कार्यक्रम में हम सदैव उनके साथ खड़े रहेंगे |

केन्द्रीय मंत्री श्री विजय गोयल ने कहा कि आचार्य लोकेश के मार्गदर्शन में वैश्विक एकता और विश्व शांति के लिए जहाँ गत वर्ष अमेरिका की अटलांटिक सिटी, भारत की आर्थिक राजधानी मुम्बई, व भारत की राजधानी दिल्ली में ऐतिहासिक  कार्यक्रमों का आयोजन हुआ था इस वर्ष भी ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ का दिल्ली व अहमदाबाद में आयोजन के साथ यह सिलसिला जारी रहेगा | यह बहुत ही गौरव का विषय है कि इस अवसर पर लंदन पार्लियामेंट की ओर से आचार्य लोकेश मुनि को ‘वर्ल्ड पीस एंड यूनिटी अवार्ड’ से सम्मानित किया जा रहा है |

उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति वैश्विकता एकता और मानवी मूल्यों को उजागर करने में एक महत्पूर्ण भूमिका निभा सकती है | जरुरत है इस संस्कृति के व्यवहारिक रूप को विश्व के कोने कोने में ले जाने की | आशा है नीति निर्धारकों एवं धार्मिक संतों के एकजुट होकर काम करने से विश्व शांति के प्रयासों को गति मिलेगी |

इस अवसर पर क्वीन के प्रतिनिधि एवं हैरो लन्दन के पुलिस कमांडेंट श्री साइमन ओवेन्स, ब्रेंट लन्दन के मेयर काउंसलर भगवान जी चौहान हैरो के पूर्व मेयर अजय मारू एवं विभिन्न धर्मों के संतों ने अपने विचार व्यक्त किये | श्री विजय जोली ने स्वागत भाषण दिया | अमेरिका से श्री अनिल के. मोंगा, सिंगापुर से श्री कीर्ति भारत मकानी सहित देश के विभिन्न हिस्सों से प्रतिनिधि उपस्थित थे |