आचार्य सुधांशु जी महाराज का 63वाँ जन्मोत्सव, आनन्दधाम में धूमधाम से मना उल्लास पर्व

नई दिल्ली। विश्व जागृति मिशन के संस्थापक-संरक्षक आचार्य श्री सुधांशु जी महाराज का जन्मोत्सव आज नयी दिल्ली के बक्करवाला मार्ग स्थित मिशन मुख्यालय आनन्दधाम में धूमधाम से मनाया जायेगा। प्रख्यात चिन्तक, विचारक, अध्यात्मपुरुष सन्तश्री सुधांशु जी महाराज आज 63 वर्ष के हो गए।

उल्लेखनीय है कि श्री सुधांशु जी महाराज का जन्मदिन मिशन परिवार द्वारा ‘उल्लास पर्व’ के रूप में देश-विदेश में मनाया जाता है। आज देश भर में फैले मिशन के अन्य 20 बड़े आश्रमों एवं 85 शाखाओं ने भी उल्लास पर्व श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया। आनन्दधाम में सम्पन्न उल्लास-समारोह में डॉ.अर्चिका दीदी सहित देश-विदेश से आए मिशन साधकों ने सहभागिता की।

इस मौके पर पाद-पूजन व माल्यार्पण के साथ-साथ हजारों शिष्यों ने ‘गुरु दर्शन’ के विशिष्ट कार्यक्रम में भाग लिया।
इस अवसर पर उपस्थित श्रद्धालुओं-शिष्यों को सम्बोधित करते हुए आचार्य श्री सुधांशु जी महाराज ने मानव जीवन की महिमा व महत्ता बतायी और कहा कि हमारे ऋषियों ने मानव जीवन को सुख, शान्ति एवं समृद्धि से समुन्नत बनाने के लिए विशेष ‘दर्शन शास्त्र’ प्रतिपादित किया। यह दर्शन शास्त्र ही वास्तव में मानवीय जीवन दर्शन है। उन्होंने ऋषि प्रदत्त जीवनादर्शाें का पालन करते हुए सन्मार्ग पर चलकर सही व सफल जीवन जीने की प्रेरणा सबको दी तथा उसके महत्वपूर्ण सूत्र उपस्थित जनसमुदाय को दिए। उन्होंने अच्छी सेहत को परमात्मा की सबसे बड़ी देन कहा और सुस्वास्थ्य के सूत्र सिखलाए। कार्यक्रम का सभा संचालन विश्व जागृति मिशन के निदेशक श्री राम महेश मिश्र ने किया।

साभार- श्री अनुज अग्रवाल, सचिव, मौलिक भारत, नई दिल्ली