ट्रिपल तलाक़ के सवाल पर आखिर क्यों याद आए मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम?

नई दिल्ली। भगवान राम खुद भी चाहें तो इस कलयुग को सतयुग में नहीं बदल पाएंगे। क्योंकि खुद श्रीराम अब ऐसे हो गयें हैं, जिनपर चाहे जितनी राजनीति कर लो, जितना उल्टा-सीधा बोल लो कुछ भी कह दो और फिर पॉलिटिकल माइलेज की खातिर माफी मांग लो। आज वही हुआ कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हैं हुसैन दलवी। जब उनसे ट्रिपल तलाक बिल में संशोधन पर सवाल पूछा गया तो उन्हें भगवान राम की याद आ गई। दलवी ने कहा-अन्याय तो उन्होंने भी किया था। शक के आधार पर सीता जी को छोड़ दिया था। बयान विवादित था। हमारे संवाददाता ने उनसे सवाल पूछा सुबह 10 बजे उनसे लंबी बातचीत हुई। लेकिन वो अड़े रहे हमारा स्टैंड क्लीयर था। उन्हें ऐसा नहीं बोलना चाहिये। आखिरकार हुसैन दलवी को ये बात दोपहर 2 बजे समझ आयी। पत्रकारों के सवाल के बाद उन्होंने माफी मांगी। दलवी नें माफी में कहा-वाकई मुझे ऐसा नहीं बोलना चाहिए था।