ताज की खातिर धर्म के नाम पर न करें राजनीतिः रीता बहुगुणा

लखनऊ/ बुशरा असलम। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ताज महल को पर्यटन की बुकलेट में शामिल न करने की बात से इंकार किया है। प्रदेश सराकर ने दावा किया कि जो बुकलेट प्रकाशित की गई है वह पर्यटन विभाग का संग्रह नहीं हैं। उन्होंने ताज महल को भारत का स्टार आकर्षण बताते हुए कहा कि इसके विकास के लिए कई प्रॉजेक्ट शामिल किए गए हैं।

उत्तर प्रदेश पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने बताया कि ताज महल को नजर अंदाज करने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। उन्होंने कहा कि भारत के सबसे बड़े आकर्षण में ताज महल एक है। यूपी पर्यटन विभाग के डीजी अवनीश अवस्थी ने बताया कि बुकलेट का दुष्प्रचार किया गया। ताज महल के पास कई विकास की योजनाएं चल रही हैं। यहां एक विजिटर सेंटर बनाया जा रहा है। पार्किंग को बेहतर किया जा रहा है।

यूपी पर्यटन की बुकलेट में ताज महल न शामिल करने की बात मीडिया में आई। हंगामा शुरू हुआ तो राज्य सरकार ने मीडिया रिलीज जारी की। इस रिलीज की शुरुआत में लिखा है कि ताज महल और ताज महल के आस पास विकास की योजनाओं के लिए वर्ल्ड बैंक ने रुपया दिया है। इन 156 करोड़ से ताज और आस पास विकास का काम चल रहा है।
अवनीश अवस्थी ने कहा कि बुकलेट यूपी में आने वाले टूरिस्ट्स के लिए नहीं हैं। इसके इतर बुकलेट में सरकार के प्रॉजेक्ट्स के बारे में बताया गया है। जो सरकार कर रही है। रीता बहुगुणा ने कहा कि देश के सबसे बड़े आकर्षणों में से एक ताज महल को पर्यटन विभाग नजर अंदाज कर ही नहीं सकता है। अगर किसी ब्रोचर में ताज महल की फोटो या उसके बारे में कोई विवरण नहीं लिखा गया तो इसका मतलब ये नहीं है कि ताज महल को नजर अंदाज किया जा रहा है।
धर्म की राजनीति न करें
उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों ने सलाह दी थी कि उत्तर प्रदेश के धर्म और आध्यात्मिक जगहों को इसमें शामिल किया जाए। हर चीज को धर्म की नजर से देखना और उस पर राजनीति करना ठीक नहीं है। जो लोग इस पर राजनीति कर रहे हैं उन्हें यह पता होना चाहिए कि लोग हज के लिए मक्का जाते हैं। जबकि वेटिकन धर्म का पर्यटन है।

अवस्थी ने बताया कि ताज के पास वर्ल्ड बैंक बैंक के फंड से ‘प्रो-पुअर टूरिजम’ के पॉजेक्ट पर काम चल रहा है। प्रॉजेक्ट ताज के आस पास, कच्छपुरा का पुनरोद्धार, मेहताब बाग इलाका और शाहजहां पार्क का पुनरोद्धार का काम चल रहा है। आगरा फोर्ड और ताज महल के बीच उद्यान पथ बनाया जा रहा है। ताज महल के पश्चिमी गेट के पास विजिटर सेंटर और पार्किंग के पुनर्वास का काम चल रहा है।

विश्व पर्यटन दिवस पर पर्यटन मंत्रालय ने इंक्रेडिबल इंडिया कैंपेन लॉन्च किया है। ताज महल के फोटो और वीडियो और फोटो का एक सारांश तैयार किया गया है। इतना ही नहीं ताज महल को प्रमुखता से दिखाने के लिए इंक्रेडिबल इंडिया की वेबसाइट को फिर से बनाया जा रहा है।