रोहिंग्या मुसलमानों को खदेड़ने के खिलाफ उपवास रखेंगे स्वामी अग्निवेश

जयपुर। स्वामी अग्नीवेश ने कहा है कि वो रोहिंग्या मुसलमानों के हितों के लिए गांधी जयंती को लिए एक दिन का उपवास रखेंगे। रोहिंग्या मुसलमान को लेकर ज्यादातर लोगों को मत है कि वो देश की सुरक्षा के लिए खतरा है लेकिन कुछ उनके पक्षधर भी है। इसमें एक नाम आया है स्वामी अग्नीवेश का सामने आया है।

स्वामी अग्नीवेश का जो 2 अक्टूबर को रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में अनशन करने जा रहे है। स्वामी अग्नीवेश ने कहा कि वो और उनके समर्थक पूरे देश में रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में अहिंसात्मक आंदोलन करेगे और गांधी जयंती को उपवास रखेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि नीजता का अधिकार बहुत जरूरी था। अब सुप्रीम कोर्ट आधार कार्ड पर भी अपना रूख साफ करते हुए निर्णय सुना दें।

डाटा के इस्तेमाल पर सतर्कता जरूरी : गोविंदाचार्य
राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के संस्थापक के.एन. गोविंदाचार्य ने डाटा का इस्तेमाल भी देश की सुरक्षा से जुड़ी है। हमारे देश की सीमाएं असुरक्षित है। उन्होंने कहा कि इंटरनेट सेवाएं देने वाली अधिकांश कंपनियां विदेशी है। इनकी जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। गूगल पर टैक्स बनता है तो वह मुकर जाते हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि वे भी टैक्स दें।

डाटा सुरक्षा के लिए कानून बनाए सरकार
हमने इंटरनेट कंपनियों के सर्वर भारत में लगाने की मांग सबसे पहले उठाई है। अब न्यायपालिका और केन्द्र सरकार दोनों ही डाटा सुरक्षा के मुद्दे पर चिंतित है। देश में डाटा सुरक्षा को लेकर कानून बनाने की मांग उठने लगी है। डाटा सुरक्षा को लेकर कई देशों में कानून बने हैं। इसके तहत कई वेबसाइट्स ब्लॉक भी की जाती है, वहां कानून की सख्ती से पालना भी कराई जाती है। भारत में भी डाटा सुरक्षा को लेकर नए कानून बनाने की आवश्यकता है और इसे सख्ती से लागू भी किया जाना चाहिए।
मेहनत की रोटी औऱ इज्जत की जिंदगी मिले
गोविंदाचार्य ने कहा कि भारत की राजनीतिक तथा आर्थिक व्यवस्था में आमूल परिवर्तन होना चाहिए। भारत परस्त गरीबी परस्त व्यवस्था की स्थापना स्वाभिमान आंदोलन लक्ष्य है। व्यवस्था परिवर्तन से हम चाहते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति को मेहनत की रोटी और इज्जत का जीवन सुलभ हो। हमें भारतीय जीवन दृष्टि पर आधारित विकास मार्ग को अपनाना होगा।