स्वामी अग्निवेश के आपत्ति जनक बयान पर भड़के लोग, की मारपीट, फाड़े कपड़े

पाकुड़/ प्रवीण राय। झारखंड के पाकुड़ में स्वामी अग्निवेश की भीड़ ने पिटाई कर दी। स्वामी अग्निवेश लिट्टीपाड़ा में हिल एसेंबली महासभा के 195 वें दामिन महोत्सव में शामिल होने आए थे। कार्यक्रम में जाने के दौरान रास्ते में बीजेपी युवा मोर्चा और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया और काले झंडे दिखाए। इसी दौरान भीड़ स्वामी अग्निवेश पर टूट पड़ी और उनके साथ मारपीट की गई। स्वामी अग्निवेश के समर्थकों का आरोप है कि बीजेपी युवा मोर्चा और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट की है और उनकी योजना हत्या करने की थी लेकिन किसी तरह उनकी जान बच गई। मारपीट की घटना के बाद अग्निवेश को अस्पताल ले जाया गया। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं संथाल परगना के आयुक्त और डीआईजी इस पूरे मामले की तहकीकात करेंगे। स्वामी अग्निवेश ने दोषियों पर जल्द कार्रवाई की मांग की है वहीं, हिल एसेंबली महासभा के नेता शिवचरन मालतो ने इस पूरी घटना को साजिश करार दिया है।
स्वामी अग्निवेश से मारपीट के मामले में बीजेपी युवा मोर्चा ने अपना पक्ष रखा है। बीजेपी युवा मोर्चा का कहना है कि वो शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे थे और उनका कोई भी कार्यकर्ता इस घटना में शामिल नहीं था। उन्हें बदनाम करने के लिए स्वामी अग्निवेश के समर्थकों ने ये साजिश रची थी। बीजेपी युवा मोर्चा ने स्वामी अग्निवेश को देश विरोधी बताया वहीं, एसपी और डीसी ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। दोषियों को पकड़ने के लिए सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है और सोशल साइट्स पर भी नजर रखी जा रही है हालांकि एसपी और डीसी का कहना है कि स्वामी अग्निवेश के दौरे की उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

आखिर क्यों पिटे स्वामी अग्निवेश
हमलावरों को शिकायत थी कि स्वामी अग्निवेश ईसाई मिशनरी के इशारे पर आदिवासियों को भड़काने आए थे। आपको बता दें कि स्वामी अग्निवेश के पाकु़ड़ दौरे का जिले के विभिन्न संगठन पहले से विरोध कर रहे थे।

पाकिस्तान के इशारे पर काम करने का आरोप
हमलावरों का आरोप है कि स्वामी अग्निवेश ईसाई मिशनरी और पाकिस्तान के इशारे पर काम कर रहे हैं। झारखंड में जनभावना को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि कहा जा रहा है कि स्वामी अग्निवेश कानून व्यवस्था के मसले पर एसपी से मिलने आए थे और साथ ही पाकुड़ में एक कार्यक्रम में शामिल होने का कार्यक्रम था।

पहले भी हो चुकी है स्वामी अग्निवेश से मारपीट
साल 2011 में अहमदाबाद में अग्निवेश को एक शख्स ने थप्पड़ मारा था। उस वक्त अमरनाथ शिवलिंग के बारे में अग्निवेश के बयान से कुछ संत नाराज थे। दरअसल अग्निवेश ने कहा था कि अमरनाथ शिवलिंग का निर्माण कृत्रिम बर्फ से किया गया है। जिसके बाद एक संत ने कथित तौर पर स्वामी अग्निवेश को जूता मारने वाले शख्स को 51 हजार रुपए ईनाम की घोषणा की थी।