“स्वच्छता दूत” की मेहनत से कुंभ मेला बनेगा ‘स्वच्छ कुंभ’

प्रयागराज/ शाहिद परवेज। कुंभ के दौरान स्वच्छता दूत पूरी निष्ठा से ‘भव्य कुम्भ, दिव्य कु्म्भ’ के मंत्र को सार्थक बनाने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं। स्वच्छ दूत रवि कुमार के मुताबिक पिछले एक महीने से ज्यादा समस से वे 11 अन्य स्वच्छता दूत के साथ कुंभ मेले के आस-पास के परिसर को साफ रखने के काम में जुटे हैं। वे शहर के अरैल इलाके में कुछ भोजनालयों में साफ-सफाई का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि वे मेले के आस-पास के इलाके में कोई कूड़ा ना हो इसके लिए लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने ये भी बताया कि स्वच्छता दूत आठ घंटे की बजाय रोजाना 10 से 12 घंटे काम करते हैं। यही नहीं उन्होंने बताया कि स्नान वाले दिनों में भारी संख्या में भक्त यहां पहुंचते हैं तो काम का बोझ बढ़ जाता है।