सुधांशु जी महाराज ने युगऋषि परिवार को सौंपा एक करोड़ घरों तक युगऋषि उत्पाद पहचाने का लक्ष्य

नई दिल्ली/ विकास सिंह बघेल। नई दिली के आनंद धाम में दो दिवसीय युगऋषि आयुर्वेद अधिवेशन का आज विधिवत समापन हुआ। इस अधिवेशन मेंआनंद धाम के संस्थापक आचार्य सुधांशु जी महाराज ने वहां मौजूद लोगों से हिमालयी जड़ी-बूटियों का पूरा लाभ लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि एक करोड़ घरों तक युगऋषि उत्पाद पहुंचाए जाएं। साथ ही कहा कि एक वर्ष में 60 उत्पाद तैयार हुए, जो देश भर में फैल रहे हैं। इन उत्पादों को जब विदेशों के परिजन अपने यहां ले गये, तब लोगों ने इनकी मांग अपने देश में की। हालाकि इस बाबत विदेश मंत्रालय व अन्य सम्बन्धित केन्द्रीय मंत्रालयों से इस हेतु संवाद चल पड़ा है।

आप को बता दें कि इसके सभी उत्पाद ऋषिवेदा हरबल कम्पनी उत्तराखण्ड की धर्मनगरी हरिद्वार के ‘सिडकुल’ में बनाती है । वहाँ से CMD श्री राजीव बंसल भी पधारे। इनमें सारे मिनरल्स एवं विटामिन्स की एकमुश्त पूर्ति करने वाली ‘नवरस संजीवनी’ सहित कई रस हैं, पेय हैं, तेल हैं, पेस्ट हैं, क्रीम हैं, जेल हैं, टैबलेट हैं। युगऋषि आयुर्वेद ने आरम्भ से अब तक उत्पादों की शुचिता और गुणवत्ता पर समुचित ज़ोर दिया है।

राष्ट्र के वरिष्ठ विद्वान आयुष विशेषज्ञों एवं सुधांशु जी महाराज ने कहा कि समग्र स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेद को आत्मसात् करें। वहीं देशभर से आए डीलर बन्धु-भगिनियों ने इन्हें जन-जन तक पहुँचाने में म.प्र. के चि.संकल्प सिंह सोलंकी द्वारा प्रस्तुत सोशल मीडिया उपायों का भी लाभ उठाने का संकल्प लिया।

मिशन के महामन्त्री देवराज कटारिया ने अतिथि-अभिनंदन किया। फ़ाउण्डेशन के CEO श्री के.के.जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया। मुख्य संयोजन एवं मंच समन्वयन मिशन के निदेशक राम महेश मिश्र ने किया।