उदर पोषण की ही बात न सोचें, आत्म पोषण की भी चिन्ता करें -आचार्य सुधांशु जी महाराज

फ़रीदाबाद। केवल उदर पोषण की ही बात मत सोचो, आत्म पोषण की भी बात सोचो। अन्त:करण को ऊँचा उठाने का विचार करो, आत्मा को परमात्मा से जोड़ने की कोशिश करो, तभी कल्याण होगा तुम्हारा भी और परिवार तथा समाज का भी।

यह उद्गार आज विश्व जागृति मिशन के प्रमुख आचार्य सुधांशु जी महाराज ने फ़रीदाबाद (हरियाणा) में मिशन मंच से व्यक्त किए। वह औद्योगिक नगरी फ़रीदाबाद के टाउन पार्क में विराट भक्ति सत्संग महोत्सव के उद्घाटन सत्र में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जीवन की समस्याओं पर विजय केवल मन की स्थिरता और मन की शक्तियों के सुनियोजन से पाई जा सकती है।प्रबल इच्छा शक्ति की महत्ता की चर्चा करते हुये उन्होंने कहा कि ईश्वर ने इस सृष्टि के राजकुमार ‘मनुष्य’ को ‘इच्छाशीलता व विवेकशीलता’ के रूप में दो महान विभूतियाँ प्रदान की हैं। इन्हें समझ लें तथा कर्मशील जीवन जीते हुये इस योग्य बन जाएँ कि लोग आपका अनुसरण करें। उपस्थित जनसमुदाय से उन्होंने कहा कि वे श्रेष्ठ विचारों की अग्नि को जीवन रूपी ईंधन पर पड़ने दें और उसे भीतर उतरने दें। इससे आपके अन्दर दिव्य अग्नि प्रज्वलित हो उठेगी और आप अपनी जीवन को सफलता के शिखर पर पहुँचाने के साथ-साथ अन्य अनेकों का कल्याण करने में समर्थ हो सकेंगे।

विश्व जागृति मिशन फ़रीदाबाद मण्डल के प्रधान श्री राजकुमार अरोड़ा ने बताया कि सत्संग महोत्सव का समापन १५ अक्टूबर को सायंकाल होगा। उन्होंने बताया कि शनिवार-१४ तारीख़ को प्रातः ८ बजे से विशेष साधना सत्र सम्पन्न होगा और रविवार को सामूहिक दीक्षा करायी जाएगी। इसके पूर्व आनन्दधाम के संगीत विभाग के गायकों ने गीत प्रस्तुत किए तथा ज्ञानदीप विद्यालय की छात्राओं ने गणेश वन्दना और गुरूवन्दना प्रस्तुत की।

फ़रीदाबाद की प्रथम नागरिक व महापौर श्रीमती सुमन बाला ने श्रद्धेय महाराजश्री का महानगर की जनता की ओर से नागरिक अभिनंदन किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक एवं हरियाणा विधानसभा की संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा, विजामि के महामन्त्री श्री देवराज कटारिया, युगऋषि आयुर्वेद के सीईओ श्री के.के.जैन, साहित्य स्टाल सहित विविध स्टालों के प्रभारी श्री प्रयाग शास्त्री सहित कई गण्यमान व्यक्ति मौजूद रहे। इस मौक़े पर फ़रीदाबाद मण्डल के संस्थापक प्रधान स्मृतिशेष श्री सतीश सतीजा को श्रद्धापूर्वक याद किया गया।

कार्यक्रम का संचालन विश्व जागृति मिशन के निदेशक एवं प्रवक्ता श्री राम महेश मिश्र ने किया।