मेडल ग्रहण करने के साथ हरियाली संवर्धन के रोल माडल भी बने- स्वामी चिदानन्द सरस्वती 

ऋषिकेश। भारतीय सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री एवं माडल शमिता शेट्टी परमार्थ निकेतन पहुंची। उन्होने परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज से भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया
स्वामी जी महाराज ने शमिता शेट्टी से चर्चा के दौरान उनकी बड़ी बहन शिल्पा राज कुंद्रा द्वारा मुम्बई के बीच (तट) की सफाई के लिये दिये जा रहे योगदान की सराहना करते हुये कहा कि उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून की प्राणवाहिनी नदी रिस्पना को जीवनदान देने के लिये भी आगे आये। उन्होने कहा कि अभिनेता आज के युवाओं के रोल माडल होते है और युवा वर्ग उनका अनुकरण भी करते है अतः रिस्पना के लिये मिलकर कार्य करे तो विलक्षण परिवर्तन हो सकता है। उन्होने कहा कि रिस्पना के लिये योजना बनायी जा रही है उसमें शिल्पा और शमिता शेट्टी दोनों का सहयोग हो तो परिणाम और भी सुखद प्राप्त होंगे। पूज्य स्वामी जी ने वृक्षारोपण एवं हरियाली संवर्धन के लिये मिलकर कार्य करने पर भी चर्चा की।
शमिता शेट्टी ने कहा कि ’ऋषिकेश गंगा के तट पर आकर तन और मन दोनों ही स्वस्थ एवं निर्मल हो जाते है। यहां व्याप्त सकारात्मक ऊर्जा एवं गुरूवर का आशीर्वाद ग्रहण कर मन को अपार शान्ति का एहसास होता है। उन्होने कहा कि मेरे परिवार को यहां आकर शान्ति एवं दिव्यता का अनुभव होता है यह क्षेत्र हमारे लिये हमारा अपना पावरहाऊस (ऊर्जाघर) है।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि ’मेडल तो बहुत मिलते है परन्तु अब हरियाली संवर्धन के रोल माडल बनकर कार्य करे जिससे समाज को नई दिशा मिलेगी तथा इस क्षेत्र में मिलकर सभी को जोड़ने का कार्य भी करना है जिससे हमारा देश विश्व स्तर पर स्वच्छ, स्वस्थ एवं ऑक्सीजन बैंक के रूप में प्रसिद्ध हो सके।’ स्वामी ने हरियाली संवर्धन का प्रतिक रूद्राक्ष का पौधा शमिता शेट्टी को भेंट किया।