धर्म जोड़ना सिखाता है तोड़ना नहीं – आचार्य लोकेश

जोधपुर/ अर्चना सक्सेना। शांति दूत विश्व विख्यात जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि की जन्म भूमि पचपदरा,  शिक्षा भूमि जोधपुर, एवं दीक्षा भूमि बालोतरा राजस्थान में आचार्य लोकेश मुनि जी के साथ भारतीय सर्वधर्म संसद के संयोजक गोस्वामी सुशील जी महाराज, लद्दाख से महाबौधि इंटरनेशनल सेंटर के संस्थापक बौद्ध भिक्षु संघसेना जी, अखिल भारतीय इमाम संगठन के अध्यक्ष इमाम उमेर अहमद इलियासी जी, बंगला साहिब गुरुद्वारा के चेयरमैन श्री परमजीत सिंह चंडौक जी, प्रख्यात स्थानकवासी आचार्य सुशील मुनि जी के शिष्य श्री विवेक मुनि जी, दिगम्बर ब्रह्मचारी श्री देवेन्द्र भाई जी, रिलिजन वर्ल्ड के संस्थापक श्री भव्य श्रीवास्तव का भव्य स्वागत हुआ |

अहिंसा विश्व  भारती के संस्थापक जैन आचार्य लोकेश मुनि ने कहा कि भारत में सौहार्द, भाईचारे और आपसी मेल मिलाप की प्राचीन परंपरा है और मारवाड़ क्षेत्र इस संस्कृति की मिसाल है | यहाँ सभी धर्म, सम्प्रदाय, जाति और वर्ग के लोग एक साथ मिलकर समाज के उत्थान के लिए सदैव कार्यरत रहते है | आचार्य लोकेश ने कहा कि धर्म हमें जोड़ना सिखाता है तोड़ना नहीं, धर्म के मार्ग पर हिंसा, घृणा, नफरत का कोई स्थान नहीं | विभिन्न धर्मों के गुरु श्री नाकोड़ा तीर्थ जा रहे |

सर्वधर्म संसद के संयोजक गोस्वामी सुशील जी महाराज ने कहा कि पचपदरा के जन्मे मारवाड़ क्षेत्र में शिक्षित दीक्षित आचार्य लोकेश मुनि जी ने अनेक प्रतिष्ठित वैश्विक मंचों पर विश्व शांति और सद्भावना का सन्देश देकर जैन धर्म और भारतीय संस्कृति को गौरान्वित किया है | उनके ऐसे प्रयासों को नमन करते हुए विश्व के अनेक मंचों ने आचार्य लोकेश को ‘शांति दूत’ सम्मान से अलंकृत किया |

अखिल भारतीय इमाम संगठन के अध्यक्ष इमाम उमेर अहमद इलियासी जी ने कहा कि आचार्य लोकेश सर्वधर्म सद्भाव का सन्देश जन जन तक पहुँचाने में सदैव प्रयासरत रहते है यही कारण है कि उनके सान्निध्य में सभी धर्मों के धर्मगुरु श्री नाकोड़ा तीर्थ में कल ‘धार्मिक एकता द्वारा विकास और शांति’ का सन्देश देंगे | लद्दाख से महाबौधि इंटरनेशनल सेंटर के संस्थापक बौद्ध भिक्षु संघसेना जी ने कहा कि विश्व विख्यात अध्यात्मिक गुरु दलाई लामा भी आचार्य लोकेश की विचारधारा से प्रभावित है | परम पूज्य दलाई लामा ने कहा है कि आचार्य लोकेश के पास सर्वधर्म सद्भाव के लिए कार्य योजना है |

बंगला साहिब गुरुद्वारा के चेयरमैन श्री परमजीत सिंह चंडौक जी ने कहा कि पचपदरा निवासियों ने सर्वधर्म संतों का स्वागत कर भारत की अनेकता में एकता की संस्कृति का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया है | उन्होंने कहा कि आचार्य लोकेश ने सच्चा सौदा डेरा और सिक्ख समुदाय के बीच विवाद सुलझाने में अहम भूमिका निभाई थी |

प्रख्यात स्थानकवासी आचार्य सुशील मुनि जी के शिष्य श्री विवेक मुनि जी व दिगम्बर ब्रह्मचारी श्री देवेन्द्र भाई जी ने कहा कि जैन धर्म वैज्ञानिक धर्म है और प्रासंगिक है | इसके माध्यम से अनेक वैश्विक समस्याओं का समाधान मुमकिन है |

जोधपुर हवाई अड्डे पर अहिंसा विश्व भारती राजस्थान शाखा के समन्वयक श्री महेश धारीवाल, श्री प्रदीप कोठारी, श्री राकेश ललवानी, श्री सौरब एवं श्री अशोक अंबानी के साथ क्षेत्रवासियों ने, बालोतरा में समाजसेवी श्री ओम प्रकाश बांठिया के साथ शहर वासियों ने व पचपदरा ग्राम पंचायत मुख्यालय में सरपंच श्री विजय सिंह खारवाल ने विशाल जनसमूह के सम्मुख  सभी धर्म गुरुओं का स्वागत किया | उन्होंने कहा कि आचार्य लोकेश ने सर्व धर्म सद्भाव की स्थापना के लिए अथक प्रयास किये है जिसके लिए भारत सरकार ने उन्हें राष्ट्रीय साम्प्रदायिक सद्भावना पुरूस्कार से अलंकृत किया | बड़ी संख्या में पधारे क्षेत्र वासियों का अभिनन्दन करते हुए कहा कि इन सबकी उपस्थिति यह दर्शाती है कि भारत का हर छोटा गाँव और शहर शांति और विकास चाहता है | भारत में जाति, धर्म, सम्प्रदाय के नाम पर कोई मतभेद नहीं है |