कोई भी साधु वस्त्र से संत नहीं होता, चरित्र से होता हैः बाबा रामदेव

अलवर। योग गुरु बाबा रामदेव बुधवार को अलवर में पतंजलि द्वारा लगाई गई तेल मिल के उद्घाटन समारोह में अलवर आए थे। इस दौरान बाबा रामदेव ने बाबाओं के ऊपर बलात्कार जैसे अपराधिक मुकदमे दर्ज होने के सवाल के जवाब पर निशाना साधते हुए कहा कि कोई भी साधु वस्त्र से संत नहीं होता, चरित्र से संत होता है और साधु को चरित्र से पवित्र होना ही चाहिए। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि देश में 5 लाख से ज्यादा साधु संत हैं, जिसमें ज्यादातर पवित्र हैं और कुछ अपवाद स्वरूप हो सकते हैं। उन अपवाद स्वरूप साधुओं के कारण पूरे समाज को टारगेट नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो साधु ढोंगी आडम्बर और धर्म के नाम पर बहकाते हैं उन्हें कभी प्रोत्साहित नहीं करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि चमत्कारों के चक्कर में पड़कर लोग ही बाबाओं को खराब करते हैं। उन्हें बाबाओं से उम्मीद होती है कि बाबा चमत्कार करेगा और हमारा उद्धार करेगा।