रेलवे स्टेशनों पर पड़े बीमारों को संरक्षण दें सरकार और आश्रम”- राम महेश मिश्र

हरिद्वार। कर्मठ और इमानदार रेलवे  पुलिस फोर्स के इंस्पेक्टर संजीव राणा की हरिद्वार में विश्व जागृति मिशन के निदेशक श्री राम महेश मिश्र से मुलाकात हुई। मुलाकात के बाद संजीव राणा ने श्री मिश्र को रेलवे स्टेशन के विभिन्न हिस्सों का भ्रमण कराया साथ ही वहां पड़े लगभग दो दर्जन ग़रीब बुज़ुर्गों और बीमार जनों को दिखाया।
रेलवे स्टेशन भ्रमण के बाद  RPF इन्स्पेक्टर ने कहा “इनके लिए हमने समाज कल्याण विभाग में सम्पर्क कर इन्हें संरक्षण देने का अनुरोध किया। जिले के अफ़सर ने NGOs से मिलवाया, लेकिन उन्हें ऐसे व्यक्ति सेवा के लिए चाहिए, जो काम कर सकते हों।” 
साथ ही इन्स्पेक्टर संजीव राणा ने कहा कि “मिश्र जी! आप ही इनके लिए कुछ कीजिए।”
बोले- लोग तो एक नज़र डालकर चले जाते हैं, लेकिन हम इन्हें रोज़ देखते हैं, दिल दुखता है। कड़ाकेदार ठण्ड में सीढ़ियों के समीप ज़मीन पर लेटे टीवी के मरीज़ बिहार निवासी एक युवक को हमने देखा, जिसकी चादर पर दो कुत्ते भी सो रहे थे। 
आरपीएफ़ ऑफ़िसर ने बताया कि दुखियारों की यह स्थिति देश के हर रेलवे स्टेशन पर देखने को मिल जाएगी। हमने श्री राणा को भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मन्त्रालय के संज्ञान में यह बात लाने का आश्वासन दिया। मैं मंत्रालय के सचिव और मंत्री जी से शीघ्र सम्पर्क कर देश भर के रेलवे स्टेशनों पर बिसरी इस पीड़ा के शमन का भावपूर्ण आग्रह करूँगा। हरिद्वार व ऋषिकेश के विशालकाय आश्रमों तथा धार्मिक अखाड़ों को इन पीड़ितजनों की सेवा करनी चाहिए। परदुःख कातरता पर भावनाप्रधान प्रवचन देने वाले पूज्य सन्तगण कम से कम जाड़े के सीज़न में तो यह क़दम उठाएं ही।