विश्व शांति के लिए मानवाधिकारों की रक्षा जरूरी – आचार्य लोकेश

नई दिल्ली। ऑल इण्डिया काउंसिल ऑफ़ ह्यूमन राइट्स, लिबर्टीस एंड सोशिअल जस्टिस द्वारा इस्लामिक कल्चरल सेंटर में आयोजित सांतवे अन्तर्राष्ट्रीय मानव अधिकार सम्मान समारोह को अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि, परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती, अखिल भारतीय इमाम संगठन के अध्यक्ष इमाम उमर अहमद इलियासी, ब्रह्मकुमारी डा. बिन्नी सरीन, सुप्रीम कोर्ट में वकील डा. एन्थोनी राजु के साथ अनेक प्रख्यात महानुभावों ने संबोधित किया |

आचार्य डा. लोकेश मुनि ने अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि व्यक्तिगत स्वंत्रता, समानता, शांतिप्रिय सहअस्तित्व स्वस्थ समाज की संरचना के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण है | राजनैतिक, सामाजिक, धार्मिक कार्यकर्ताओं का यह कर्तव्य है कि इस बात पर ध्यान दे कि किसी के मानवाधिकार का हनन न हो, कोई दास नहीं बनाना चाहिए, किसी को पीड़ा नहीं देनी चाहिए| हमें अपने साथ दूसरों की भी स्वतंत्रता और विचारों का आदर करना चाहिए | आचार्य लोकेश ने कहा कि विश्व शांति के लिए मानवाधिकारों की रक्षा करना जरूरी है | आज समस्त विश्व युद्ध, आतंकवाद और हिंसा जैसी समस्याओं से जूझ रहा है| ऐसे में जरूरत है मनुष्य एक दूसरे का आदर करे, उन्हें सामान अधिकार दें | भगवान महावीर ने न केवल मानवाधिकार कि बल्कि जीव और अजीव अधिकारों की 2600 वर्ष पूर्व चर्चा की| 

सभी धर्माचार्यों ने इस अवसर पर कहा कि धर्म मानवता की शिक्षा देते है | उपसना एवं आध्यात्म के मार्ग पर कोई ऊंच नींच, जाति, सम्प्रदाय, वर्ग, धर्म का भेद भाव नहीं है | समाज के हर वर्ग जब सामान रूप से विकास होता है तभी सही मायनो में समाज का विकास होता है | शिक्षा की मानवाधिकार के क्षेत्र में अहम भूमिका है | जब व्यक्ति शिक्षित होगा तभी उसे अपने अधिकारों का ज्ञान होगा और तभी वो अपने अधिकारों की रक्षा कर सकेगा | धर्माचार्यो का कर्तव्य है कि वो मानवाधिकारों के प्रति जागरूकता पैदा करने की दिशा में एकजुट हो काम करना चाहिए |

इस अवसर पर स्वामी चिदानंद सरस्वती, मुंबई के आर्चबिशप ओसवाल्ड कार्डिनल ग्रेसिस, डा. मुस्तफा तह्राली सास- दुबई, श्रीमती चित्रा रॉय, आर्चबिशप डा. फेलिक्स मकाडो – मुम्बई, श्रीमती एकता तरुण वासन -मुम्बई, युसूफ एम. बुज़बून – बहरैन, साध्वी भगवती सरस्वती, जम्मू कश्मीर पुलिस, प्रो. डा. तलत अहमद – उपकुलपति जामिया मिलिया, सर डा. हुजैफा खोराकीवाला -मुम्बई, ब्रिगेडियर राजीव इनोच विलियम उपाध्यक्ष सी.एस.आर. जिंदल ग्रुप, टी. रजा (औटोवाला) – कर्नाटक, सी. सेतुपथी, कैप्टन अश्विनी कुमार रेड्डी, सत्यनारायण गोत्तुमुक्कला को इस अवसर पर अवार्ड से सम्मानित किया गया |