सकारात्मक सोच से स्वस्थ एवं समृद्ध समाज की रचना संभव – आचार्य लोकेश

नोएडा/ देव गुर्जर। अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य लोकेश मुनि को 6th ग्लोबल फेस्टिवल ऑन जर्नलिज्म के दौरान लाईफटाईम अचीवमेंट एंड एक्ससिलेंस अवार्ड से सम्मानित किया गया | आचार्य लोकेश ने ‘पत्रकारिता के द्वारा प्रेम, शांति और एकता सम्मलेन’ को संबोधित करते हुए कहा की सकारात्मक सोच सेव्यक्ति का निर्माण तथा सकारात्मक पत्रकारिता से  स्वस्थ एवं समृद्ध समाज की रचना संभव है | आचार्य लोकेश को नोएडा फिल्म सिटी के संस्थापक संदीप मारवाह द्वारा नोएडा स्थित एशियन एकाडमी ऑफ़ फिल्म एन्ड टेलीविज़न में सम्मान से अलंकृत किया गया |

आचार्य लोकेश ने राष्ट्र व समाज निर्माण में पत्रकारिता की भूमिका पर कहा कि समाज में भाईचारा, सद्भावना व शांति की स्थापना में सकारात्मक पत्रकारिता अहम भूमिका निभा सकती है | पत्रकारिता के क्षेत्र में भी सकारात्मक सोच रखना महत्वपूर्ण है | सकारात्मक सोच मनुष्य और समाज को प्रगति की राह पर चलने की ऊर्जा मिलती है | आज समाज अनेक विकृतियों का सामना कर रहा है | असंतुलित जीवन शैली से समाज में अनेक विकृतियां उत्पन्न हो गयी है | जरुरत है व्यक्तिगत जीवन में संतुलन उत्पन्न करने की | दूसरों के प्रति गलत विचारों को मन में न आने देना ही सकारात्मक सोच है | पत्रकारिता जहाँ समाज में हो रहे गलत कार्यों को सभी के सामने लाती है वही समाज में हो रहे अच्छे कार्यों को भी जन जन तक पहुंचान जरुरी है |

संदीप मारवाह ने कहा कि आचार्य लोकेश मुनि जी विश्व शांति और सद्भावना की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है | उन्होंने विश्व के कोने कोने में जाकर शांति सन्देश दिया है | शांति दूत के नाम से विश्व विख्यात आचार्य लोकेश मुनि ने विश्व के कोने कोने से आए मिडिया जगत के बंधुओं को शांति व सद्भावना का सन्देश दिया यह हमारे लिए गौरव का विषय है |