महादेव की शरण में पीएम मोदी, कल करेंगे बद्रीनाथ के दर्शन

केदारनाथ/ आशीष तिवारी। पीएम मोदी उत्तराखंड के दो दिवसीय यात्रा पर हैं आज सुबह वे केदारनाथ पहुंचे। उन्होंने करीब आधे घंटे पूजा-अर्चना की। साथ ही केदारनाथ क्षेत्र में विकास कार्यों का जायजा भी लिया। वे रात्रि विश्राम भी केदारनाथ में ही करेंगे। मोदी रविवार को बद्रीनाथ के दर्शन करेंगे।
इस यात्रा की जानकारी पीएमओ ने चुनाव आयोग को भी दी थी। आयोग के मुताबिक पीएम मोदी की इस यात्रा से उन्हें कोई परेशानी नहीं है। आयोग के अफसर ने बताया कि, ‘‘प्रधानमंत्री की यह आधिकारिक यात्रा है, और आधिकारिक यात्रा की जा सकती है।
मोदी की केदारनाथ की चौथी यात्रा
यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी केदारनाथ में ही रात्रि विश्राम करेंगे। लिहाजा सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद रखा गया है। मोदी पिछले साल नवंबर में भी केदारनाथ पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने जवानों के साथ दिवाली भी मनाई थी। 2017 में भी दो बार (मई और अक्टूबर) वे केदारनाथ पहुंचे थे।
9 मई को खुले थे केदारनाथ के कपाट
इस बार 9 मई को केदारनाथ धाम के कपाट खोले गए थे। यहां एक साथ छह हजार लोगों के रुकने की व्यवस्था की गई है। यात्रा मार्ग में 300 से ज्यादा टेंट लगाए गए हैं। बद्रीनाथ के कपाट 10 मई को खोले गए थे।

मूंग की दाल की खिचड़ी और तवे की रोटी खाएंगे
केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री मूंग की दाल की खिचड़ी और तवे की रोटी खायेंगे। प्रधानमंत्री के केदारनाथ पहुंचने पर गढ़वाल मंडल विकास निगम भी उन्हें परोसे जाने वाले खाने की तैयारियों में जुटा है। सूत्रों के मुताबिक मोदी के लिए केदारनाथ में सादा भोजन बनाया जाएगा।
पहली बार पहुंचेंगे बदरीनाथ
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 19 मई रविवार की सुबह 9:30 बजे बदरीनाथ धाम पहुंचेंगे और भगवान का पूजा अभिषेक करेंगे। इसके बाद सवा दस बजे वापस लौट जाएंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी रविवार को बदरीनाथ धाम में मत्था टेकने पहुंचेंगे। वे बतौर प्रधानमंत्री पहली बार बदरीनाथ धाम पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बदरीनाथ दौरे को लेकर कड़े सुरक्षा प्रबंध कर दिए गए हैं। प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग के लिए बदरीनाथ स्थित राज्य सरकार के हेलीपेड और माणा स्थित आर्मी के हेलीपेड का निरीक्षण कर लिया गया है। ट्रायल के रूप में दोनों स्थानों पर हेलीकॉप्टर उतारे गए हैं। 23 मई तक आदर्श आचार संहिता है। उनका कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं है।