प्लास्टिक पुलिस की भी हो नियुक्ति -स्वामी चिदानन्द सरस्वती

ऋषिकेश। कावड़ मेला के सकुशल सम्पन्न होने के उपलक्ष्य में परमार्थ निकेतन में पुलिस प्रशासन के लिये भोज का आयोजन किया गया। जिसमंे 700 से अधिक पुलिस कर्मियों ने सहभाग किया।
श्रावण मास में जब श्रद्धालु गंगा स्नान और भोले बाबा के ध्यान में लीन रहते है तब पूरा पुलिस प्रशासन मुस्तैद होकर देश के कोने-कोेने से आये लोगों की सुरक्षा, सहायता और सेवा में तैनात रहता है। पुलिस के जवान अपनी और अपनों की फिक्र किये बिना हर परिस्थिति में लोगों की सेवा एवं व्यवस्था के लिये सदैव तैयार रहते है।
प्रत्येक वर्ष की तुलना में इस बार कावड़ मेला में अत्यधिक कावड़िया भगवान भोलेनाथ के दर्शन हेतु आये हुये थे इसके बावजूद भी पुलिस प्रशासन की चाक-चैबंद व्यवस्था ने इस महामेले को सकुशल सम्पन्न कर दिया।  पुलिस टीम ने धूप, वर्षा, उफनती नदियों और आपदाग्रस्त क्षेत्रों से भी अपनी कार्य कुशलता से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया उन्होने अपनी जान की परवाह न करते हुये इस मेले को सम्पन्न किया।
पैदल यात्रियों के साथ-साथ डाक कावड़ के लिये भी बेहतर रूटप्लान किया गया था ताकि यात्रियों को असुविधा का सामना न करना पडे।
कावड़ मेले के सकुशल सम्पन्न होने पर जहां प्रशासन ने राहत की सांस ली वहीं बाहर से आये यात्रियों ने ऐसी अनेक कहानियां सुनायी जिसे सुनकर पुलिस प्रशासन के प्रति आम आदमी का विश्वास और बढ़ गया है।
पुलिस प्रशासन और सरकार को धन्यवाद हुये स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि पुलिस प्रशासन ने अपनी बुद्धिमता और कठिन परिश्रम से कावड़ मेले को सकुशल सम्पन्न किया, वास्तव में सभी साधुवाद के पात्र है। स्वामी जी महाराज ने कहा कि आगामी कावड़ मेला को और बेहतर तरीके से सम्पन्न करने के लिये स्थानीय प्रशासन को पहले से तैयार होना होगा। हमारे पर्यावरण को बचाने के लिये शहर और राजाजी नेशनल पार्क में भण्डारा करने वाले और दुकान लगाने वाले दुकानदारों को स्वच्छता बनाये रखने के लिये प्रेरित किया जाना चाहिये। उन्हे दुकान लगाने के लिये स्थान का आवंटन स्वच्छता के मापदंडों के आधार पर करना चाहिये। कावड मेला के पश्चात दुकानों के मालिक अपना-अपना कचरा-कूडा स्वंय साफ करे तभी दूसरे वर्ष उन्हे दुकान लगाने के लिये स्थान का आवंटन किया जाये। स्वामी जी महाराज ने कहा कि सबको अपनी-अपनी जिम्मेदारी निर्वहन करनी होगी, सबको मिलकर स्वच्छ भारत अभियान का अंग बनना होगा तभी हम इस प्यारे से स्वर्गाश्रम क्षेत्र को स्वच्छ, दिव्य एवं भव्य बनाये रख सकते है।इस प्रकार हम अपने पर्यावरण को बचा सकते है।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने पुलिस प्रशासन के साथ पर्यावरण संरक्षण और मिलकर कर कार्य करने का संकल्प किया। विभिन्न स्थानों से आये सुरक्षाकार्मियों को संदेश देते हुये स्वामी जी महाराज ने कहा कि आप सभी अपने अपने स्थानों पर सबसे पहले स्वच्छता सिपाही भी बनकर रहे क्योंकि स्वच्छता के प्रति जागरण इस देश के पर्यटन को भी आगे बढ़ायेगा, पलायन को भी घटायेगा और सम्मान को भी लौटायेगा।
 स्वामी जी महाराज ने भोजप्रसाद समारोह मंे उपस्थित सभी अधिकारियों को शिवत्व का प्रतीक रूद्राक्ष का पौधा देकर पर्यावरण के प्रति सचेत बने रहने का संदेश दिया और कहा कि पुलिस प्रशासन इस ओर सक्रियता से भाग ले तो मुझे लगता है कि यह बहुत बड़ा कार्य हो सकता है। साथ ही प्लास्टिक रोकने हेतु भी पुलिस प्रशासन अपनी जिम्मेदारी सम्भाले ताकि कही से भी प्लास्टिक हमारे प्रदेश उत्तराखण्ड में न आने पाये।अब समय आ गया है कि हम प्लास्टिक पुलिस की भी नियुक्ति की जाये।
इस अवसर पर डीआईजी श्री अजय रतौला जी, एसएसपी श्री जगतराम जोशी जी, एसओ श्री प्रदीप राणा जी एवं अन्य कई अधिकारियों ने भाग लिया।