आंखों की सेहत के लिए फायदेमंद होता है मत्सयासन

नई दिल्ली/ सचिन गुप्ता। योग साधना के लिए भारत का नाम देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर में किसी परिचय का मोहताज नहीं है. योग से कई शारीरिक बीमारियों को ठीक किया जा सकता है. आज योग ने न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी अपनी जगह बना ली है. योग से आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलता है. शरीर को फिट और लचीला बनाए रखने के लिए सबसे ज्यादा योग का सहारा लिया जा रहा है. योग एक साधना है, जो शरीर और मन को शान्त रखने में मदद करता है योगासन से आप शरीर को फिट रखने के साथ-साथ शरीर की बीमारियों से भी निजात पा सकते हैं. योग एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिए कई तरह की बीमारियों जैसे मोटापा, शरीर दर्द, कमर दर्द, गठिया, मानसिक संतुलन और अनिद्रा से निजात पा सकते हैं. अगर आपको अपनी आंखों से प्यार है और आप नहीं चाहते हैं कि आज की जीवनशैली का आपकी आंखों पर कोई फर्क पड़े, तो इसके लिए आपको योग का सहारा लेना चाहिए. आंखों के लिए कई योगासन हैं, जो आंखों की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं. इन्हीं में से एक है मत्स्यासन. आंखों के लिए मत्यासन जरूर से करना चाहिए. इसके अलावा इस योगासन को रोजाना नियमित रूप से करने पर आपका गला भी साफ रहेगा. आपको बता दें कि मत्स्यासन को अंग्रेजी में कहा जाता है, क्योंकि इसको करते समय शरीर का आकार मछली के जैसा लगता है.

क्या है मत्स्यासन, कैसे करें मत्स्यासन और मत्स्यासन के लाभ
मत्स्यासन करने के लिए सबसे पहले एक समतल जमीन पर दोनों पैरों को मोड़ कर बैठ जाएं. इसके बाद पीछे की ओर झुक कर लेट जाएं. इतना करने के बाद अपने पैरों के दोनों अंगूठों को अपने हाथों से पकड़े और पीठ को ऊपर की ओर उठाएं. आपको इस आसन का पूरा लाभ चाहिए तो इसे रोजाना एक से पांच मिनट तक करें. ध्यान रहे कि जिन लोगों को छाती और गले में ज्यादा दर्द की शिकायत है वह लोग इस योगासन को न करें.
मत्स्यासन के लाभ
मत्स्यासन से आपको ढेरों लाभ मिलेंगे. नियमित रूप से मत्स्यासन करने से आँखों की रोशनी बढ़ती है. योगासन गला साफ करने में भी खासा कारगार होता है. इसके अलावा इसकी मदद से शरीर में बल्ड सर्कुलेशन भी बढ़ता है. मत्स्यासन खासतौर पर दमे के मरीजों के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है. यही नहीं जो लोग अपने पेट का एक्स्ट्रा फैट्स दूर करना चाहते हैं ये उनके लिए भी खासा कारगर साबित होता है