दशरथ के 10 हजार कमरों वाले महल में भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए- मणिशंकर अय्यर

अयोध्या/ मनीष द्विवेदी। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने एक कार्यक्रम में राम मंदिर मुद्दे पर विवादास्पद बयान दिया है। मणिशंकर अय्यर के राम मंदिर पर बयान को लेकर देश में सियासत गर्म हो गई है। दिल्ली में ‘एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम’ कार्यक्रम में मणिशंकर अय्यर ने कहा कि राजा दशरथ बहुत बड़े राजा थे। उनके महल में 10 हजार कमरे थे। लेकिन भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए ये कोई कैसे दावा कर सकता है। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि कुछ लोग इसलिए मंदिर वहीं बनाएंगे की बात करते हैं, क्योंकि वहां एक मस्जिद थी।
मणिशंकर अय्यर ने बाबरी मस्जिद को गिराए जाने को लेकर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा किया, उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1992 को केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, और अगर उस समय के पीएम नरसिंहाराव चाहते तो बाबरी मस्जिद नहीं गिरती। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि देश में इस वक्त मुस्लिम समुदाय में खौफ का माहौल पैदा करने की कोशिश हो रही है। जिस दिन बाबरी मस्जिद को शहीद किया गया उस दिन भारत के ईमान को भी शहीद कर दिया गया था। अय्यर ने कहा कि बाबरी मस्जिद को गिराने की घटना महात्मा गांधी की हत्या करने जैसा था। बीजेपी नेताओं का इस पूरे विवाद में क्या कहना है, वो हम आपको सुना देते हैं। 
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के बयान पर अयोध्या में मौजूद संतों में गुस्सा है। श्री रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने मणिशंकर अय्यर के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि मणिशंकर को इस बात की जानकारी नहीं है की जिस जगह रामलला विराजमान हैं वही स्थान राम की जन्मभूमि है। वहीं बाबरी मस्जिद के पैरोकार इकबाल अंसारी ने भी मणिशंकर अय्यर के बयान पर कहा कि पूरी दुनिया भगवान राम की है, उन्होंने कहा कि मुस्लिम मंदिर का विरोध नहीं करता है। कांग्रेस में हाशिए पर चल रहे मणिशंकर अय्यर ऐसे विवादित बयान देकर सुर्खियां बटोरते रहते हैं। इससे पहले भी नालायक, नीच और चायवाला जैसे बयान देकर अय्यर कांग्रेस की लुटिया डुबो चुके हैं। अय्यर मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को ‘हाफिज साहब’ तक कह चुके हैं। अय्यर के इन बयानों से ना सिर्फ कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी हो जाती है। बीजेपी को भी कांग्रेस पर वार करने का मौका मिल जाता है।