शिक्षा को मूल्य परक बनाने के लिए बदलाव जरूरी – आचार्य लोकेश

नई दिल्ली। बिहार के शिक्षा मंत्री श्री कृष्ण नंदन वर्मा ने आचार्य डा. लोकेश मुनि जी से दिल्ली स्थित आश्रम में मुलाकात कर आशीर्वाद लिया तथा मूल्य परक शिक्षा (Peace Education) संगोष्ठी में भाग लिया। आचार्य लोकेश ने शराबबंदीदहेज मुक्त और बाल-विवाह रोकथाम के लिए बिहार सरकार के मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार जी को साधुवाद दिया।

आचार्य लोकेश ने संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा शिक्षा प्रणाली शारीरिक और बौद्धिक विकास पर ध्यान दे रही है परन्तु मानसिक, भावात्मक व चारित्रिक विकास के बिना वह अधूरी है| आज की शिक्षा प्रणाली इंजिनियर, डाक्टर, वकील, अफसर आदि तो बना रही है परन्तु अच्छा इन्सान का निर्माण  करना  भी बेहद आवश्यक है| शिक्षा में बदलाव कर उसमे मूल्य परक शिक्षा (Peace Education) को शामिल करना भी आवश्यक है| आचार्य लोकेश ने कहा कि आज हमें समाज में अनेक विकृतियां देखने को मिलती है इसका मूल कारण है की मनुष्य का सर्वांगीण विकास नहीं हुआ है| मनुष्य के सर्वांगीण विकास के लिए शारीरिक और बौद्धिक विकास के साथ मानसिक, भावात्मक व चारित्रिक विकास भी जरूरी है| केवल अर्थ और काम के पीछे अंधी दौड़ के लिए प्रेरित न करके कर्तव्यों का पालन करने की शिक्षा देना भी शिक्षा प्रणाली का ही काम है|

बिहार के शिक्षा मंत्री श्री कृष्ण नंदन वर्मा ने करोल बाग़ स्थित आचार्य लोकेश आश्रम में संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि जहाँ शिक्षा जीविका चलाने में मदद करती है वही उपयोगी जीवन जीने की भी प्रेरणा देती है| हमारी शिक्षा प्रणाली के द्वारा शिक्षित होने के बावजूद भी रोजगार के पर्याप्त अवसर न मिलने से समाज में अनेक समस्याए उत्पन्न होती है| बिहार के मुख्यमंत्री का इस बात पर जोर है कि शिक्षा के साथ हुनर भी सिखाना चाहिए ताकि नौकरी भी आसानी से मिल सके| बिहार में शिक्षा के क्षेत्र में अनेक विकास हुए है| आशा है हम आचार्य लोकेश के मार्गदर्शन में मूल्य परक शिक्षा की ओर भी ध्यान देने का प्रयास करेंगे जिससे संस्कारी पीढ़ी का निर्माण हो| इस अवसर पर अहिंसा विश्व भारती संस्था द्वारा उत्तरीय उढ़ाकर व साहित्य भेंट कर स्वागत किया | श्री प्रकाश मिश्र और श्री विनीत शर्मा ने आभार प्रकट किया |