पिछले 43 सालों से ‘मचान वाले बाबा’ ने नहीं रखी जमीन पर पांव

प्रयागराज/ देवेश दुबे। मेले में इन दिनों कई चीजें आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। दुनिया के सबसे बड़े महासंगम में देश-दुनिया से करोड़ों श्रद्धालु जुट रहे हैं। साधु-संतों से लेकर वहां की अनोखी तैयारियां लोगों को अपनी ओर खींच रही हैं। कुंभ मेले में सबसे ज्यादा इन दिनों जो लोगों को ध्यान आकर्षित कर रहे हैं वो हैं यहां पर आए साधु संत। ये अपने अनोखे रुप रंग और साधना के जरिए लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। इन्हीं में से एक हैं मचान वाले बाबा जो कुंभ क्षेत्र में कौतूहल का विषय बने हुए हैं। इन बाबा का नाम यूं तो श्री महंत राम कृष्ण दास त्यागी जी महाराज है। ये बाबा साल 1975 से साधना कर रहे हैं, इनका दावा है कि इन्होंने तब से अब तक जमीन पर पांव नहीं रखे हैं। बहुत कम ही ये जमीन पर अपने पांव रखते हैं, अधिकम समय ये जमीन से उपर ही बिताते हैं। इन्होंने एएनआई से बात करते हुए बताया कि वे मचान के उपर से ही लोगों को आशीर्वाद देते हैं और उनका अभिवादन स्वीकार करते हैं। उनका पंडाल 24 घंटे खुला रहता है और हर रोज करीब 5,000 लोग उनके दर्शन करने के लिए आते हैं। इसके अलावा वे यहां आने वाले श्रद्धालुओं को अपने पंडाल में मुफ्त में चिकित्सा की सुविधा भी प्रदान करते हैं। इनका पंडाल इतना बड़ा है कि 5,000 लोगों को ये अपने यहां ठहरने की सुविधा भी प्रदान कर रहे हैं।