गीता महोत्सव में शामिल होने के लिए मॉरीशस रवाना हुए आचार्य लोकेश

नई दिल्ली। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद कुमार जुगनौत के निमंत्रण पर अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश मुनि गीता जयंती महोत्सव मे भाग लेने के लिए इन्दिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से रवाना हुये। मॉरीशस में 12 से 16  फरवरी तक आयोजित होने वाले गीता जयंती महोत्सव मे हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, त्रिपुरा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहल लाल, गीता मनीषी ज्ञानानन्द जी भाग लेंगे। 

मॉरीशस सरकार के निमंत्रण पर आचार्य लोकेश ने गीता महोत्सव के लिए दिल्ली से रवाना होने से पहले कहा कि आज से पांच हजार साल पहले भगवान श्रीकृष्ण ने भारत में जीवन जीने की कला का उपदेश दिया था, जिसे आज पूरा संसार अपने जीवन पद्धति में शामिल करने के लिए इच्छुक है। गीता एक ग्रंथ ही नहीं बल्कि बेहतर जीवन जीने का सिद्धांत भी है। उन्होंने कहा कि गीता के सिद्धांतों को युवा पीढ़ी तक पहुंचाना आवश्यक है। गीता जीवन को समझने और समस्याओं को सुलझाने सहायक सिद्ध होती है। गीता ने दर्शन और विज्ञान में अनेक सिद्धांत स्थापित किए हैं। गीता एक सर्वांगीण व्यक्तित्व और संतुलित समाज ने निर्माण मे सहयोग देती है।