प्रयाग कुंभ के जरिए हमारी सभ्यता, परम्परा और संस्कृति को करीब से जानने का मौका मिलेगा- पीएम मोदी

प्रयागराज/ देवेश दुवे। गुलाबी धरातल पर आध्यात्मिक मेले में विचारों का असीमित आकाश है तो गहरे लाल रंग पर सजा इस आयोजन का संदेश और आपको आमंत्रण का प्रयास है आपके लिए सफेद रेत पर नारंगी मंच सज चुका है….देश और दुनिया से लोगों का जमावड़ा प्रयागराज में शुरु हो चुका है। दरअसल आध्यात्म और पौराणिक मान्यताओं को समेटे उत्तर प्रदेश की पवित्र भूमि प्रयागराज में कुंभ 2019 का शुभारंभ हो रहा है। संगमतट पर इस महापर्व का आयोजन 15 जनवरी से 4 मार्च तक होगा। पुण्यसलिला गंगा के तट पर स्थित प्रयागराज भारत की सांस्कृतिक और आध्यात्मिक विरासत की पहचान है.। गंगा, यमुना और सरस्वती के बीच यहां संगम का अद्भुत नज़ारा हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करता है । दुनिया के इस सबसे बड़े आध्यात्मिक जमावड़े को लेकर खुद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उत्साहित हैं।
” पीएम मोदी ने देश और दुनिया के लोगों को कुंभ में आने का न्योता देते हुए कहा है कि देश के सबसे विशाल धार्मिक मेले के जरिए उन्हें भारतीय सभ्यता, परम्परा और संस्कृति को करीब से जानने का मौका मिलेगा।”
प्रयागराज में हो रहे महापर्व ‘कुंभ’ की बात सिर्फ भारत में ही नहीं हो रही बल्कि दुनियाभर के लोग इस पवित्र पर्व का ज़िक्र कर रहे हैं, यही नहीं यूनेस्को ने भारत में होने वाले कुंभ मेले को ‘मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर’ के रूप में मान्यता दी है, यही वजह है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी सरकार इस पावन पर्व को ऐतिहासिक बनाने पर ज़ोर दे रही है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगले साल प्रयागराज में कुंभ को एतिहासिक और यादगार बनाने के लिए सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। योगी ने कहा कि कुंभ के दौरान श्रद्धालुओं को करीब साढ़े 4 सौ साल बाद अक्षय वट और सरस्वती कूप के दर्शन होंगे। उन्होंने कहा कि कुंभ मेला क्षेत्र को 1700 हेक्टेयर से बढ़ाकर 3200 हेक्टेयर कर दिया गया है। वहीं स्नानार्थियों की सुविधा के लिए प्रयाग राज में 10 उपरगामी सेतु, 6 भूमिगत रास्तों का निर्माण किया गया है। इसके अलावा नगर के 264 सड़कों को टू लेन, फोर लेन, सिक्स लेन औरर आठ लेन में परिवर्तित किया गया है। वहीं दुनिया के 70 देशों के प्रतिनिधियों ने हाल में प्रयागराज का दौरा कर कुंब की तैयारियों का अवलोकन भी किया था और सरकार की तारीफ भी की थी।