आस्था और पर्यटन के लिहाज से ऐतिहासिक साबित होगा कुंभ- योगी आदित्यनाथ

प्रयागराज/ देवेश दुबे। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कुंभ की तैयारियों के बारे में बताते हुए बोले कि इस बार कुंभ की वैश्विक तैयारियां की गई हैं। यहां देश और दुनियाभर से लोग आ रहे हैं इसलिए ये समागम आस्था और पर्यटन दोनों दृष्टिकोण से ऐतिहासिक साबित होगा। आयोजन की भव्यता और दिव्यता के बारे में बताते हुए सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पर्यटन के लिए लिहाज से नंबर एक हो जाएगा। सीएम ने समाज के चौथे स्तंभ से आयोजन को सफल बनाने की अपील की। यही नहीं उन्हों ने समाज के हर तबके का सहयोग मिलने की बात भी कही। सीएम ने कहा कि ये आयोजन सिर्फ सरकार का नहीं बल्कि समाज का आयोजन है। सरकार सिर्फ सहभागी है।

इसबार प्रयागराज का कुंभ क्यों है खास?
कुंभ क्षेत्र में 30 से ज्यादा पार्किंग बनाई गई है।
कुंभ के लिए 500 से ज्यादा शटल बसें और ई-रिक्शा का इंतजाम किया गया है।
हाईटेक कंट्रोल रुम से संपूर्ण क्षेत्र पर नजर रखी जाएगी।
12-14 पंटून ब्रिज की जगह इसबार 22 ब्रिज बनाए गए।
कुंभ के लिए प्रयागराज में 15 फ्लाईओवर बनवाए गए।
192 देशों के प्रतिनिध अपनी सहभागिता सुनिश्चित करेंगे।
देश और दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं के प्राचीन आश्रमों में रैन बसेरा बनाकर व्यवस्था की गई है। 20 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था की गई है।
कुंभ की अलौकिक छटा का लाभ उठाने के लिए टेंट सिटी का भी निर्माण किया गया है।
उत्तर प्रदेश के संस्कृति विभाग ने संस्कृति कर्मियों के लिए अलग-अलग स्थानों पर पंडाल दिए हैं।

14 जनवरी मकर संक्रांति स्नान, 21 जनवरी पौष पूर्णिमा स्नान, 4 फरवरी को मौनी अमावस्या स्नान, 10 फरवरी को स्नान, 19 फरवरी को स्नान और 4 मार्च को स्नान होगा।