धार्मिक सद्भावना भारत की राजधानी दिल्ली की प्राचीन परंपरा – केनु अग्रवाल

नई दिल्ली/ असित अवस्थी। अहिंसा विश्व भारती की सलाहकार और संस्कार भारती चाँदनी जिलाध्यक्ष केनु अग्रवाल का किंग अब्दुल्ला बिन अब्दुलअजीज अंतर्राष्ट्रीय अंतरधार्मिक और सांस्कृतिक सेंटर फ़ेलो 2019 (KAICIID International Fellow Program 2019) के लिए चयन हो गया है | ऑस्ट्रिया के राजधानी शहर वियना में स्थित KAICIID, सऊदी अरब के राजा अब्दुल्ला की पहल के बाद ऑस्ट्रिया गणराज्य, स्पेन राज्य, सऊदी अरब साम्राज्य और वेटिकन द्वारा संयुक्त रूप से 2012 में स्थापित किया गया एक अंतर सरकारी संगठन है जिसका उद्देश्य अंतर-धार्मिक वार्ता को बढ़ावा देना और विवादों को रोकने और हल करने मे पहल करना है | अंतर्राष्ट्रीय फैलो कार्यक्रम के प्रतिभागियों को एक कठोर प्रक्रिया के बाद चुना गया जिसमें गहन मूल्यांकन और दुनिया भर से आवेदकों के साक्षात्कार शामिल थे। केनु अग्रवाल विश्व भर से चुने गए 20 लोगों मे से है |

KAICIID इंटरनेशनल फेलो प्रोग्राम दुनिया भर के धार्मिक शिक्षकों एवं कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से बातचीत, मध्यस्थता और सामाजिक सामंजस्य को बढ़ावा देने के लिए ऑनलाइन एवं व्यक्तिगत प्रशिक्षण देता है | फैलो कार्यक्रम अंतर धार्मिक संवाद के बारे में शिक्षित करने के साथ अंतर धार्मिक कार्यकर्ताओं की कौशल एवं आवश्यकता अनुसार मदद भी करता है| उन्हें परस्पर संवाद में सक्रिय सूत्रधार और नेता बनने के लिए आवश्यक कौशल प्रदान करता है ; और उन्हें अपने समुदायों में सक्रिय शांति बनाने के लिए संघर्ष परिवर्तन के लिए भी प्रशिक्षित करता है |

श्रीमती केनु अग्रवाल ने अंतरधार्मिक की प्रथम ट्रेनिंग के लिए वियना जाने से पहले कहा कि मैं पिछले 10 वर्षों से धार्मिक एवं संस्कृति सद्भावना स्थापित करने के लिए काम कर रही हूँ | मैं KAIIID इंटरनेशनल फेलो प्रोग्राम 2019 की कठिन चयन प्रक्रिया से गुजरी हू |इसमे चयनित होने से मुझे अंतरराष्ट्रीय मंच पर अंतर धार्मिक एवं अंतर संस्कृति सद्भावना को समझने और काम करने का अवसर मिलेगा |  KAICIID जैसे विश्व विख्यात संगठन के माध्यम से प्रशिक्षण लेना मेरे लिए एक बेहद सुनहरा अवसर है | विश्व के कोने कोने से आए लोगों के साथ प्रशिक्षण लेना धार्मिक सद्भावना की ओर उनका एक और कदम होगा |

श्रीमती केनु ने कहा कि मैं दिल्ली के दिल चाँदनी चौक में रहती हूँ जहां मात्र एक किलोमीटर मेन सैंकड़ों वर्षों से लोग मंदिर, चर्च, मस्जिद गुरुद्वारों, आदि धार्मिक स्थानों पर पूजा अर्चना करते हैं | पिछले 50 वर्षों से उन्होने भारत कि राजधानी दिल्ली मे सभी धर्मों,समुदायों और प्रान्तों के लोगों को एक साथ रहते और काम करते देखा है | यही संस्कृति वो विश्व के विभिन्न देशों मे लेजाना चाहती है जिससे आपसी मतभेद समाप्त हो सके |

KAICIID के निदेशक मंडल में प्रमुख धार्मिक नेता शामिल है मुख्य रूप से बिशप मिगुएल आयुस (पोंटिफिक काउंसिल फॉर इंटर रिलीज्यस डायलोग मे वैटिकन सचिव), महामहिम मेट्रोपॉलिटन इमानुअल,मुख्य रब्बी डेविड रोसेन (पूर्व चीफ रब्बी आयरलैंड और अमेरिकी यहूदी समिति के लिए अंतर धार्मिक मामलों के निदेशक) और रेवरेंड मार्क पोल्सन | संगठन की गतिविधियों दुनिया भर में फैली हुई हैं, खासकर अफ्रीका,यूरोप, मध्य-पूर्व में, दक्षिण-पूर्व एशिया और संयुक्त राष्ट्र में।

जनवरी 2019 से प्रारंभ होकर बारह महीनों की अवधि तक चलने वाली ट्रेनिंग में, KAICIID फैलो व्यक्तिगत और ऑनलाइन प्रशिक्षण की एक श्रृंखला में भाग लेंगे| जिसमें पारस्परिक संवाद, सह-अस्तित्व और बहुलवाद के विषय पर क्षेत्रीय यात्राओं और चर्चा शामिल होंगी। अपने प्रशिक्षण के अंत में, फैलो को छोटे पैमाने पर स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय अंतर-धार्मिक वार्ता,परियोजनाओं को विकसित और कार्यान्वित करने का अवसर मिलेगा।