विराट भक्ति सत्संग महोत्सव का दूसरा दिन, जालंधरवासियों ने योग-ध्यान की विशेष कक्षा का लिया लाभ

जालन्धर/ नेहा मिश्रा। इस धरती का हर आदमी आनन्द पाना चाहता है। इसके लिए वह सारे के सारे प्रयास करता है। व्यक्ति के सभी उद्यमों व उपक्रमों का लक्ष्य ‘आनन्द की प्राप्ति’ है। आप सच्चे आनन्द को समझें और उसे पाने के लिए सही मार्ग का चुनाव करें। उन्होंने कहा कि राष्ट्र-विश्व के प्रत्येक व्यक्ति द्वारा ऐसा उद्यम करने पर अशान्त देश और दुनिया को शान्त एवं सुखी बनाया जा सकता है।

यह बात आज प्रातःकाल पंजाब की औद्योगिकनगरी जालन्धर के साईं स्कूल प्रांगण में प्रख्यात अध्यात्मवेत्ता आचार्य श्री सुधांशु जी महाराज ने उपस्थित हज़ारों ज्ञान जिज्ञासुओं को सम्बोधित करते हुए कही। ‘धर्म एक नक़द सौदा है’ विषय पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सच्चे अर्थों में धार्मिक मनुष्य सदैव आनन्द से भरा रहता है। जिस भावना, विचार या वस्तु में लगातार बने रहने पर भी आपको कोई बोरियत न हो, उन्हें अपनाने से ही जीवन में सच्चा आनन्द मिलता है। प्रसन्नता, प्रेम, शान्ति, निर्भयता, निश्चिन्तता आदि को हमेशा ग्राह्य बताते हुए उन्होंने कहा कि क्रोध, ईर्ष्या, कलह जैसी नुक़सानदायक चीज़ें सदैव ज़ेहन में नहीं रह सकतीं, इसलिए वे ग्रहण करने योग्य नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बहाव का, प्रवाह का नाम ही जीवन है और रुक जाने का नाम ही मृत्यु है। उन्होंने अवचेतन मन का ज्ञान-विज्ञान सभी को समझाया।

ध्यान के विशेष सत्र में मिशन प्रमुख ने सभी को ध्यान की विधियाँ सिखायीं। बताया कि ध्यान से व्यक्तित्व में चमत्कारिक स्तर की गहराई आती है। उन्होंने खान-पान के ढेरों सूत्र समझाए और कहा कि खान-पान, रहन-सहन एवं आचार-विचार के नियमों व अनुशासनों का पालन करने पर व्यक्ति सौ साल तक स्वस्थ रह सकता है। उन्होंने इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉंग बनाए रखने के लिए ‘युगऋषि आयुर्वेद’ के तहत बनायी गयी ‘नवरस संजीवनी’ तथा विटामिन-डी की छतिपूर्ति हेतु ‘आयुरकैल-डी’ का सेवन करने का परामर्श दिया।

नयी दिल्ली से आए विजामि के निदेशक श्री राम महेश मिश्र के मंचीय समन्वयन में सम्पन्न कार्यक्रम में आचार्य अनिल झा, श्री कश्मीरी लाल चुघ एवं श्री रामबिहारी ने कई भजन प्रस्तुत किए, वाद्य यन्त्रों पर उनका सहयोग श्री राहुल आनन्द व श्री चुन्नीलाल तंवर ने किया। आज के सत्संग कार्यक्रम
में मिशन के लुधियाना मण्डल के प्रधान श्री राम चन्द्र गुप्ता, पटियाला के प्रधान श्री अजय अलीपुरिया, नाभा के प्रधान श्री शेरजंग वर्मा एवं जालन्धर प्रधान श्री सुरेन्द्र कुमार चावला सहित संस्था के पंजाब भर के प्रमुख कार्यकर्ता मौजूद रहे।