जैन तीर्थंकरों ने स्वस्थ व समृद्ध समाज निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया – महेश शर्मा

नई दिल्ली। अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैनाचार्य डॉ. लोकेश मुनि ने भारत के संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री डा. महेश शर्मा से उनके निवास स्थान पर भेंट के दौरान जैन धर्म, कला व संस्कृति के विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत चर्चा की |

आचार्य लोकेश ने बताया कि अहिंसा विश्व भारती संस्था आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से जैन दर्शन के विभिन्न आदर्शों अनेकांत, अहिंसा व अपरिग्रह को विश्व के कोने कोने तक ले जा रही है | उन्होंने विश्व शांति व् सद्भावना की स्थापना में जैन दर्शन की भूमिका पर चर्चा की | आचार्य जी ने विनम्रता से जैन तीर्थंकर सर्कट की मांग की जिससे तीर्थंकरों के विचार जन जन तक पहुंचे | भारत ने अनेकों जैन तीर्थ है जो जैन तीर्थंकरों के जीवन से सम्बंधित महत्वपूर्ण विषयों पर प्रकाश डालते है | तीर्थंकरों ने हमेशा अहिंसा, प्रेम एवं आत्म जाग्रति की बात की है | जैन वास्तुकला में रूचि रखे वालों के लिए भी वो आकर्षण का केंद्र है |

डा. महेश शर्मा ने कहा कि आचार्य लोकेश ने समाज में सद्भाव व भाईचारा पैदा करने में अहम भूमिका निभाई है | धर्म को राजनीती से जोड़कर समाज उत्थान का माध्यम बनाना उनका सराहनीय कदम है | केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अहिंसा के उपासक शांतिप्रिय जैन धर्म का समाज व राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान है |

इस अवसर आचार्य लोकेश ने अहिंसा विश्व भारती की पत्रिका डा. महेश शर्मा को भेंट की |