जैन दर्शन से अनेक वैश्विक समस्याओं का समाधान मुमकिन – आचार्य लोकेश

नई दिल्ली। अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि ने इण्डिया फाउनडेशन के भारतीय विचार महोत्सव (India Thoughts Festival) को संबोधित करने के लिए गोवा रवाना होने से पहले आचार्य लोकेश आश्रम में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस विशाल महोत्सव में अध्यात्म, विज्ञान, समाज, पौराणिक गाथाओं, संश्लेषण, समन्वय पर भारत व विदेशों से 350 से ज्यादा विचारक, राजनेता, प्रशासनिक अधिकारी, औद्योगपति, पत्रकार व सामाजिक कार्यकर्त्ता एक साथ विचार करेंगे यह देश के विकास की और अहम कदम है | भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं इण्डिया फाउनडेशन के बोर्ड मेम्बर श्री राम माधव ने आचार्य लोकेश को संबोधन के लोइए गोवा में आमंत्रित किया |

भारत के उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू, वाणिज्य मंत्री श्री सुरेश प्रभु, रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण, भारत के रेल मंत्री श्री पियूष गोयल, नागरिक विमानन मंत्री श्री जयंत सिन्हा, सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी, गोआ के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पारेकर, विदेश राज्य मंत्री श्री एम.जे. अकबर,  जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती, मुम्बई स्टोक एक्सचेंज के निदेशक आशीष चौहान, प्रधान मंत्री आर्थिक सलाहकार समिति की सदस्य शमिका रविसांसद श्री स्वप्न दास गुप्ता, प्रसार भारती के चेयरमैन ऐ. शौर्य प्रकाश ज़ीउस कैप्स के निदेशक शौर्य दोवल संस्था इण्डिया फाउनडेशन द्वारा 15 से 18 दिसम्बर तक आयोजित होने वाले भारतीय विचार महोत्सव के विभिन्न सत्रों को संबोधित करेंगे |

आचार्य लोकेश ने कहा कि इस महत्वपूर्ण मंच पर मुझे जैन दर्शन पर संबोधित करने का अवसर मिला यह मेरे लिए गौरव की बात है | जैन दर्शन मुझे विरासत में मिला और इसे जीने का मुझे अवसर मिला यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है | आज सिर्फ भारत को ही नहीं अपितु विश्व जनमानस को जैन दर्शन समझने और उसे अपने जीवन में अपनाने की आवश्यकता है | अनेक वैश्विक समस्याओं का समाधान जैन दर्शन में मौजूद है | भगवान महावीर ने 2600 वर्ष पूर्व वैज्ञानिक रूप में एक ऐसी जीवन शैली जीने की शिक्षा दी जिससे स्वस्थ्य समाज की संरचना मुमकिन है |

आचार्य डा. लोकेश मुनि 17 दिसम्बर को उदघाटन सत्र में सनातन विषय को इस्कोन के उपाध्यक्ष चंचलापति प्रभु, बौद्ध धर्म से डा. गेशे नगवांग सामेटेन, अमेरिकन हिन्दू आचार्यवामदेव डा. डेविड फ्राऊले के साथ संबोधित करेंगे | आचार्य लोकेश मुनि ‘जैन धर्म का भारत व विश्व के लिए महत्त्व’ ‘ अहिंसा परमो धर्मं’ पर वक्तव्य देंगे |