ईद-उल-अजहा पर मौलाना महली ने की अपील, बैन जानवरों की न करें कुर्बानी

लखनऊ/ बुशरा असलम। देशभर में 12 अगस्त को ईद-उल-अजहा यानी बकरीद मनाई जाएगी। ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बानी दी जाती है। लेकिन कुर्बानी से पहले लखनऊ में मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों से कुर्बानी में एहतियात बरतने की अपील की है।

मौलाना महली ने कहा, ‘मुसलमान कुर्बानी के वक्त साफ सफाई का विशेष ध्यान दें। नालियों में जानवरों का खून न बहाएं। कुर्बानी की जगह पर ही कु्रबानी करें। सड़कों पर जानवरों की कुरबानी न करें और जिन जानवरों को प्रतिबंधित किया गया हैं उन जानवरों को कतई कुर्बान न किया जाए.’ साथ ही उन्होंने कहा कि इस मौके की कोई भी फोटो न ही खींची जाएगी और न ही कोई फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की जाएगी। मौलाना खालिद ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह से भी मुलाकात की है। उन्होंने डीजीपी से किसानों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए निवेदन किया है। खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा अक्सर दूर दराज से अपने जानवर किसान शहरों में बेचने आते हैं लेकिन कई बार कुछ अराजक तत्व उनको परेशान करते हैं और उनके साथ मॉब लिंचिंग भी हो जाती है।