उद्यमिता की सफलता के लिये ’तीन सी’क्रिएटिविटी, करेज, कनेक्टिविटी नितांत आवश्यक- साध्वी भगवती सरस्वती

ऋषिकेश। ताज महल पैलेस मुंबई में वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन का आयोजन रोड़ टू जीईएस, महाराष्ट्र सरकार, नीति आयोग एवं एफआईसीसीआई के संयुक्त तत्वाधान में किया गया जिसमें भारत सहित विश्व की विशिष्ट हस्तियों ने सहभाग किया।

इस समारोह में जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव, साध्वी भगवती सरस्वती जी, श्री हर्ष मारीवाला, फिक्की के पूर्व प्रमुख, सुश्री श्वेता शालिनी, सीरियल उद्यमी और भाजपा प्रवक्ता, श्री अमिताभ कांत जी सीईओ नीति आयोग, सुजीत सामद्दार जी सीनियर कंसलटंेट नीति आयोग, एसइए गुप्ता जी, आईएएस प्रमुख सचिव कौशल विकास और उद्यमिता आर विमला, आईएएस, सीईओ एमएसआरएलएम, सुश्री इंद्र मलो आईएएस उपाध्यक्ष, प्रबंध निदेशक एमएवीआईएम, सुश्री राधा कपूर संस्थापक, भारतीय डिजाइन और अभिनव स्कूल, डिजाइनर उद्यमी सुश्री नीत लुल्ला, अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी, श्री एडवर्ड डी कगन, अमेरिकी कॉन्सल जनरल मुंबई, श्री निरंकार सक्सेना जी, तनाज भाटिया, सुहानी मोहन एवं अनेक अतिथि एवं उद्यमी उपस्थित थे।

इस कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव एवं डिवाइन शक्ति फाउण्डेशन की अध्यक्ष साध्वी भगवती सरस्वती जी ने कहा ’भारत एक ऐसा देश है जो वसुधैव कुटुम्बकम (विश्व एक परिवार है) के सिद्धांत पर विश्वास करता है। जब हम भारत में उद्यमिता के बारे में बात कर रहे है तब हम अपने व्यापार और मुनाफे की बात ही नहीं बल्कि भारत के ऊर्जावान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने जो सबका साथ सबका विकास का सूत्र दिया है उस दृष्टि से आगे बढ़े। उन्होने कहा कि अपने मुनाफे की बात न करने का यह मतलब नहीं की हम एन जी ओ खोल लें या सन्यास ग्रहण कर लें परन्तु इसका मतलब है व्यापार करें, लाभ लेें साथ ही कुछ ऐसा करे जो पूरे के लिये भी लाभदायक हो ताकि हम पूरे विश्व को भी एक साथ लेकर चल सके। साध्वी जी ने कहा कि उद्यमिता की सफलता के लिये तीन सी का होना आवश्यक है क्रिएटिविटी (रचनात्मकता), करेज (साहस) और काम्पटीशन (प्रतिस्पर्धा) के स्थान पर कनेक्टिविटी (सम्बंधता) यह सफलता की कुंजी है। अपनी सफलता का आकलन इन तीन सूत्रों के आधार पर करें। उन्होने महिलाओं की उद्यमिता के क्षेत्र में सशक्त भागीदारी पर जोर दिया।’

प्रसिद्ध अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने जोर देकर कहा कि उनके जीवन का वास्तविक आनन्द ग्लैमर और सेलिब्रिटी नहीं है बल्कि वास्तविक आनन्द तो योग के माध्यम से आन्तरिक शान्ति के रूप मंे आता है। उन्होंने भारतीय भोजन पकाने के महत्व के बारे में बात कि और कहा कि यह दुखद है कि आजकल की भारतीय महिलायें व्यस्त होने के कारण भोजन पकाने का आनन्द नहीं लें पा रही है। अभिनेत्री शिल्पा ने महिलाओं को उद्यमिता के लिये प्रेरित किया।’

पीएलएस शिल्पा शेट्टी, विशाखा सिंह और एक और प्रसि़द्ध अभिनेत्री, उद्यमी ने सोशल मीडिया की ताकत को उनके व्यवसाय के विपणन के बारे में विचारों को साझा किया। साध्वी भगवती जी ने अमेरिकी कॉन्सल जनरल को ऋषिकेश में आंमत्रित किया उन्होने ग्लोबल उद्यमिता शिखर सम्मेलन के लिये बीटीड इंडिया और अमेरीका की साझेदारी के विषय में भी चर्चा की उन्होने कहा कि यह समारोह सड़क पर, जीईएस पर केन्द्रित है लेकिन हमें जीईएस से सड़क पर भी ध्यान देने की जरूरत है।