कुम्भ मेला के दौरान एक दिन मनाया जायेगा दिव्यांग महाकुम्भ एवं दिव्यांग हरित सामूहिक विवाह संस्कार

ऋषिकेश/ धनंजय राजपूत। परमार्थ निकेतन में दो दिवसीय यात्रा हेतु 30 से अधिक दिव्याग का एक दल पहुंचा जिसमें दिव्याग एवं उनके अभिभावकों ने सहभाग किया।  अपने दो दिवसीय प्रवास में उन्होने परमार्थ निकेतन की विश्व विख्यात दिव्य गंगा आरती, हवन, गंगा स्नान और अन्य गतिविधियों में सहभाग किया। यह दल स्वराज विकलांग सेवा समिति के मार्गदर्शन में परमार्थ निकेतन पहुंचा।
आगामी इलाहाबाद कुम्भ को हरित कुम्भ मानाने तथा कुम्भ के दौरान ही एक दिन दिव्यांग महाकुम्भ मनाया जायेगा जिसमें स्वराज विकलांग सेवा समिति इलाहाबाद अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करेगी । जिस प्रकार सिहंस्थ कुम्भ उज्जैन में गंगा एक्शन परिवार, परमार्थ निकेतन द्वारा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की आह्वान से महाकुम्भ का एक दिन दिव्यांग कुम्भ के रूप में मनाया गया था जिसका चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने केन्द्रीय मंत्री थापर चन्द्र गहलोह जी ने इसका उद्घाटन किया था उसी प्रकार इलाहाबाद महाकुम्भ में भी एक दिन दिव्यागं महाकुम्भ के लिये समर्पित किया जायेगा। इसमे माननीय मंत्री थापर चन्द्र गहलोत जी परमार्थ निकेतन ऋषिकेश हरित श्री राम कथा में पधारे थे उसी दौरान स्वामी जी महाराज ने उनसे दिव्यांग महाकुम्भ में सहभाग करने हेतु चर्चा की, तो उन्होने इस श्रेष्ठ कार्य मे पधारने की अपनी स्वीकृति प्रदान की।

स्वराज विकलांग सेवा समिति इलाहाबाद, महाकुम्भ के अवसर पर दिव्यंाग सामूहिक विवाह  समारोह का आयोजन करती है। वर्ष 2013 के कुम्भ मेला में भी इनके द्वारा दिव्यंाग सामूहिक विवाह  का भव्य आयोजन किया गया था उस समय स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज, जस्टिस अरूण टंडन जी और अन्य विशिष्ट अतिथिगण ने अपनी दिव्य उपस्थिति दर्ज कर सभी नव विवाहितों को आशीर्वाद प्रदान किया था। यह समिति वर्ष 2019 के महाकुम्भ में भी अन्तरधार्मिक दिव्यांग विवाह समारोह का आयोजन करने जा रही है जिसमें किसी भी वर्ग और धर्म के लोग सहभाग कर सकते है। इस समिति का मूल मंत्र है वसुधैव कुटुम्बकम् को चरितार्थ करना। इस समिति के आयोजन के संरक्षकों ने निवेदन किया कि पूज्य स्वामी जी महाराज इस पवित्र संस्कार में अपनी दिव्य उपस्थिति और आशीर्वाद देने हेतु अवश्य पधारे ।

सुश्री नन्दिनी त्रिपाठी जी ने स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महराज की प्रेरणा से 2019 के कुम्भ को स्वच्छ और हरित कुम्भ के रूप में मनाया जायेगा। उन्होने कहा कि पूज्य स्वामी जी चाहते है कि कुम्भ के दौरान इलाहाबाद में होने वाले दिव्यांग विवाह समारोह को हरित विवाह समारोह के रूप में मनाया जाये तो विश्व स्तर पर एक हरित एवं सर्वधर्म समभाव का संदेश प्रसारित होगा। आयोजक समिति ने इस सकारात्मक सुझाव की सराहना करते हुये स्वीकार किया।
दिव्याग विवाह समारोह में गंगा एक्शन परिवार परमार्थ निकेतन द्वारा हरित पौधों की भेंट प्रदान करेगा ताकि प्रत्येक नव विवाहित जोड़ा विवाह की याद में पौधे का रोपण कर सके। साथ ही दिव्यांगों को सबल और सशक्त बनाने पर चर्चा की। इसी श्रंखला में हमने स्वामी जी महाराज के आशीर्वाद स्वरूप रूद्राक्ष का पौधा भेंट किया।
परमार्थ गंगा तट पर दिव्यांग जनो के साथ परमार्थ परिवार के सदस्यों ने वाटर ब्लेंिसग सेरेमनी में सम्पन्न की इस अवसर पर श्री संजीव मित्तल और श्रीमती मित्तल ने सहभाग किया। दल के सदस्यों ने नीलकंठ महदेव और हरिद्वार, हर की पौड़ी का दर्शन किया। परमार्थ निकेतन अपने यहां आने वाले यात्रियों को उत्तराखण्ड पर्यटन को बढ़ावा देते हेतु प्रोत्साहित करता है।