पर्यावरण सुरक्षित नहीं रहेगा तो भविष्य में ऑक्सीजन का बॉटल लेकर चलना पड़ेगा- दारा सिंह चौहान

मउ/ रंजीत राय। निकाय चुनाव के दौरान बीजेपी कीओर से प्रचार प्रसार करने प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान मउ पहुंचे। वन ,पर्यावरण,उद्यान और जंतु उद्यान जैसे महत्वपूर्ण विभागों की ज़िम्मेदारी निभा रहे दारा सिहं चौहान जी ने किसानों, मजदूरों, पर्यावरण की रक्षा करने,वृक्षों को ज्यादा से ज्यादा लगाने पर ज़ोर दिये। इसके लिए लोगों का आह्वान भी किये। उन्होंने कहा कि वन ही जीवन है। वन के होने से लोगों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन प्राप्त होगा। पर्यावरण सुरक्षित रहेगा, नहीं तो भविष्य में ऑक्सीजन का बॉटल भी लेकर चलना पड़ेगा और इसके ज़िम्मेदार हम सभी लोग होंगे। इसके अलावा उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा वृक्ष लगाएं और पर्यावरण को बचाएं। श्री चौहान ने कहा कि हमारी सरकार किसानों के हित का पूरा ध्यान रखती है। उन्होंने कहा कि वन वाले क्षेत्रों में पर्यावरण पूरी तरह से सुरक्षित है। वहां का वातावरण सकारात्मक और सुखद है लोग स्वस्थ और प्रसन्नचित हैं क्योंकि उन्हें पर्याप्त आक्सीजन और सुंदर सुन्दर वृक्षों को देखकर आनन्द की अनुभूति होती है। कहा कि जो वृक्ष लगायेगा वही उसका मालिक है और नीम, आम और महुआ का वृक्ष को छोड़कर निजी कार्य में प्रयोग करने के लिये काटे जाने के लिए अब पुलिस या वन विभाग के अधिकारी की अनुमति लेने की ज़रूरत नहीं है। श्री चौहान ने अपने क्षेत्र का चहुंमुखी विकास करने की बात कही। सरल सहज और विनम्र भाव से फरियादियों को सुनना और सम्बन्धित विभग के अधिकारी को सकारात्मक भाव में निर्देशित करना एक सफल राजनेता के गुण को दर्शाता है। पार्टी के कार्यकर्ताओं को हृदय से सम्मान देना और उनको ऊर्जावान बनाने के लिये उनके साथ कदम से कदम मिला कर चलना पार्टी के प्रति समर्पण भाव को दिव्यता प्रदान करता है। उनका कहना की कार्यकर्ता पार्टी के रीड की हड्डी होता है। निश्चित रूप से राजनीति के लंबे अनुभव को परिलक्षित करता है।

गौरतलब है कि दारा सिंह चौहान दो बार राज्यसभा सदस्य,,एक बार लोकसभा सदस्य रहे। श्री चौहान लोकसभा के नेता संसदीय दल रहे साथ कई पदों को सुशोभित करते हुवे उन्होंने उस पद का मान बढ़ाया और उसकी सार्थकता को जनता के बीच लाकर उसकी उपयोगिता साबित की। आप प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री होने के साथ साथ भाजपा के पिछड़ा वर्ग के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं, यह पद इन्हें सरकार में मंत्री बनाये जाने से पहले प्रदान किया गया। पिछड़ा वर्ग के विकास के लिए राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाया जाना इनकी कर्मठता और समर्पण को गौरवान्वित करता है। इस ज़िम्मेदारी का भी श्री चौहान पूरे समर्पण भाव से निर्वहन कर रहे हैं जिसका समाज के ज़रूरतमन्दों को लाभ भी मिल रहा है। मृदुभाषी मिलनसार स्वभाव के धनी श्री चौहान ने विधान सभा के चुनाव में रिकार्ड मतों से जीत दर्ज करा कर मधुबन विधान सभा में बसपा के किले को ध्वस्त कर दिये, छात्र राजनीति से ही श्री चौहान राजनीति के दांव पेंच में दक्ष हैं। इन्होंने कुशल राजनीतिज्ञ की योग्यता से अच्छे अच्छे राजनीतिक धुरंधरों को पछाड़ा है तो कइयों को पटखनी दी है,लखनऊ विधान सभा में इनके कार्यायल में फरियादियो की कतार लगी रहती है। सभी की बात को ध्यान से सुनकर त्वरित कार्यवाही करते हैं, इससे जहां फरियादी को सम्मान प्राप्त होता है, वहीं न्याय की उम्मीद भी बढ़ जाती है। घोसी लोकसभा की जनता हो या प्रदेश की,,सभी को समान भाव से सम्मान प्राप्त होते हमने उनके विधान सभा कार्यालय में कई बार देखा है, दारा सिंह चौहान के अत्यंत करीबी, भाजपा के समर्पित सिपाही शिव प्रसाद उपाध्याय उर्फ़ सुब्बी  क्षेत्र की जनता की समस्यसों के निदान के लिए समर्पित रहते है, यह मंत्री जी के साथ साये की तरह रहने वाले सुब्बी क्षेत्र की जनता की सेवा में लगे रहते हैं, सुब्बी बाबा को भी लम्बा राजनीतििक अनुभव है, कहने का आशय यह है कि मंत्री जी की छत्र-छाया में रहने वाले लोग भी जनकल्याण की सोच को जमीनी हकीकत पर लाने का काम करते हैं,