महारानी लक्ष्मीबाई न्यास की हुंकार, अबकी बार फिर मोदी सरकार

वाराणसी/ आनंद के. पांडेय। भगवान भोलेनाथ की नगरी काशी में पीएम मोदी रोड शो के बाद दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती में शामिल हुए। रोड शो से पहले उन्होंने महामना मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रोड शो की औपचारिक शुरुआत की। इससे पहले साल 2014 उन्होंने ठीक ऐसे ही अपने रोड शो का आगाज किया था। काशी की सड़कों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा और मकानों की छतों से लोग अपने प्रिय नेता का दीदार किए। वाराणसी की फिजां में सिर्फ और सिर्फ मोदी की गूंज सुनाई दी।

वाराणसी में रोड शो से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर हर हर महादेव को याद किया । लोग जमकर सड़कों पर मोदी-मोदी और नमो नमो के नारे लगाए। काशी की जनता इस रोड शो को लेकर बेहद उत्साह में है। इस रोड शो में महारानी लक्ष्मीबाई न्यास से जुड़ी बड़ी तादाद में महिलाएं शामिल हुईं। न्यास की ओर से महारानी लक्ष्मीबाई की झांकी निकाली गई। झांकी के दौरान शामिल हुई महिलाओं ने ‘ हुआ यज्ञ प्रारम्भ उन्हें तो सोइ ज्योति जगानी है’ के नारे से ये जता दिया कि अबकी बार फिर मोदी सरकार तय है। झांकी में रानी लक्ष्मी बाई के किरदार में संत अतुला नंद की शाम्भवी सिंह ने निभाया। साथ ही शिवम पाठक,ऋण श्रीवास्तव ,शालिनी सिंह निशा केशरी ,योगेंद्र सिंह,विनय मिश्रा, सुनीता पांडेय, गौरव केशरी,वर्तिका त्रिपाठी,वंशिका सिंह, वैष्णवी सिंह, तनु श्री मिश्रा, अनामिका सिंह ने गायन के जरिए मोदी के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस कार्यक्रम में मातृशक्ति केशरिया वस्त्र और केशरिया पगड़ी पहने अलग ही  शक्तिभाव को जागृत हो रही थी इस कार्यक्रम में महारानी लक्ष्मीबाई न्यास के महामंत्री राजेन्द्र प्रताप पांडेय, सहित न्यास के पदाधिकारी, राष्ट्र सेविका समिति की पदाधिकारी जिसमें दुर्गा पांडेय, रंजना श्रीवास्तव, आरती अग्रवाल रही। झांकी में अलग अलग सामाजिक संगठनों ने भी जमकर हिस्सा लिया जिसमें मंजू सिंह, दुर्गा दुबे, बीना सिंह, ममता द्विवेदी, गीता सिंह, योगिता तिवारी, शशि दुबे, सरोज प्रजापति समेत बड़ी तादाद में महिलाएं मौजूद रहीं। इसके अलावा इस कार्यक्रम को सफल बनाने में रजनीष ने रात-दिन मेहनत की साथ सम्पूर्णानंद तिवारी जी ने बहनो का मान रखा। इसके अलावा संत अतुलानंद की निदेशक वंदना सिंह ने कार्यक्रम को सफल बनाने में पूरजोर सहयोग किया। झांकी का नेतृत्व राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना चौबे ने किया।