सीएम योगी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति पर माल्यार्पण किया

लखनउ/ बुशरा असलम। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश के पूर्व उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर आज यहां जी0पी0ओ0 पार्क स्थित उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को भारत माता का महान सपूत बताते हुए कहा कि सरदार पटेल ने प्राचीन काल से ही सांस्कृतिक इकाई रहे भारतवर्ष की राजनीतिक एकता के सपने को साकार किया। उनकी दूरदर्शिता एवं इच्छा शक्ति से ही भारत की वर्तमान राजनीतिक एकता सम्भव हुई। इस एक भारत को श्रेष्ठ भारत बनाने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार अहर्निश प्रयास कर रही है।
योगी ने कहा कि अंग्रेजी सरकार ने अपनी कुत्सित मंशा के चलते आजादी के समय राजे रजवाड़ों को अपनी इच्छा से भारत अथवा पाकिस्तान में शामिल होने या स्वतंत्र रहने की अनुमति दी। सरदार पटेल ने अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति और कुशलता से न केवल 543 से अधिक रियासतों का भारत में विलय कराया, बल्कि जूनागढ़ और हैदराबाद जैसी भारत में विलय से इन्कार करने वाली रियासतों को लौह पुरुष के अनुरूप आचरण करके भारत में मिलाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि तत्कालीन भारत सरकार ने सरदार पटेल के अनुरूप काम किया होता तो कश्मीर की समस्या सहित वे सभी अन्य समस्याएं न होती, जो आज देश के लिए नासूर बन गई हैं।
योगी ने विश्वास जताया कि लोग सरदार पटेल के दिखाए रास्ते का अनुसरण करते हुए देश को जाति, मत, मजहब में बंटने नहीं देंगे और देश की स्वतंत्रता और अखण्डता की रक्षा करने के लिए तत्पर रहेंगे।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य सहित मंत्रिगण, जनप्रतिनिधिगण एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।