लड़कियां सप्‍लाई करने वाला बाबा गिरफ्तार

सीतापुर। यूपी पुलिस ने एक किशोरी के साथ बलात्‍कार के मामले में कथित बाबा सियाराम दास को गिरफ्तार किया है। किशोरी का आरोप है कि बाबा ने उसको गैरकानूनी तरीके से आठ महीने तक बंधक बनाए रखा और कई बार बलात्‍कार किया। पीडि़त लड़की का यह भी कहना है कि बाबा के कई शिष्‍यों ने भी उसके साथ बलात्‍कार किया। पुलिस के मुताबिक पीडि़त लड़की के एक रिश्‍तेदार ने 50 हजार रुपये में उसको बाबा की एक शिष्‍या को बेच दिया। उसके बाद पीडि़ता को पहले लखनऊ ले जाया गया और उसके बाद बाबा के मिसरिख स्थित आश्रम लाया गया, जहां बाबा ने उसके साथ बलात्‍कार किया।

पीडि़त लड़की के मुताबिक बाबा ने उसका एक एमएमएस भी बनाया और धमकाया कि यदि वह किसी को भी इस बारे में बताएगी तो उसको खतरनाक अंजाम भुगतना होगा। उसके बाद उसको आगरा स्थित आश्रम ले जाया गया और जहां आठ महीने तक रोज रात में अन्‍य लोगों द्वारा उसका बलात्‍कार किया जाता रहा।

उसके बाद जब उसको वापस मिसरिख लाया गया तो बाबा ने फिर बलात्‍कार किया। किसी तरह से पीडि़त लड़की के हाथों बाबा का मोबाइल फोन लग गया और उसने आश्रम से ही पुलिस को फोन कर दिया। बाबा एक गर्ल्‍स स्‍कूल भी चलाता है। पीडि़त लड़की ने यह आरोप भी लगाया है कि बाबा इसके माध्‍यम से सेक्‍स रैकेट भी चलाता है और राजनेताओं और नौकरशाहों को भी स्‍कूली गर्ल्‍स की सप्‍लाई की जाती है। हालांकि बाबा ने इन सभी आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि वह कभी पीडि़त लड़की से नहीं मिला।

बतादें कि अयोध्या की नानक शाही गद्दी के महंत बाबा सियाराम दास सातवें महंत हैं। इस गद्दी के पहले महंत बाबा रामदास थे। इनकी गद्दी अयोध्या में शुक्ल मंदिर नयाघाट के नाम से है। इसी नाम से वहां पर धर्मशाला भी है। इस मंदिर से संबंधित जनपद बाराबंकी में ग्राम बिलखिया में सौ बीघे का कृषि फार्म भी है। इसके अलावा लखनऊ के यहियागंज में नादान महल रोड पर लंका दहन मंदिर दस हजार स्क्वॉयर फिट पर बना हुआ है। मिश्रिख में भी करीब दो सौ बीघा जमीन है। साथ ही यहां नानक शाही मंदिर भी बना हुआ है। बाबा सियाराम दास मूलरूप से जनपद हाथरस के सादाबाद थाना क्षेत्र में मुहल्ला पंडितानपुरवा के निवासी हैं।

बाबा के समर्थकों की लंबी है फेहरिस्त

बाबा सियाराम दास के समर्थकों की लंबी-चौड़ी फेहरिस्त है। साथ ही सियासत में भी इनका अच्छा खासा दखल रहता है। इनकी प्रसिद्धि का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि करीब दो वर्ष पूर्व लॉ कॉलेज का उद्घाटन करने के लिए महामहिम राज्यपाल रामनाईक मिश्रिख पहुंचे थे।

कई मामलों में दर्ज हो चुका है बाबा पर केस

जनपद हाथरस में इनके विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें न्यायालय ने इन्हें दोषमुक्त कर दिया था। इसके अलावा बाबा के विरुद्ध जनपद बाराबंकी के रामनगर थाने में अपने ही मंदिर से मूर्ति चोरी व लखनऊ के वजीरगंज थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज है। जनपद फैजाबाद में जमीन का एक मामला भी न्यायालय में विचाराधीन है।