अयोध्या केस : सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान जरूरी है – नज़रे आलम

लखनऊ। ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नज़रे आलम ने देशवासियों से किसी के भी बहकावे में नहीं आने की अपील की है। साथ ही उन्होंने कहा कि किसी ऐसी जगहों पर न जाएं जिससे अमन के माहौल को बिगाड़ने वाले असमाजिक तत्वों को मौका मिले। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद- श्री राम जन्मभूमि मामला जब सभी पक्षों की सहमति से न्यायालय में है तो हम सभी की जिम्मेदारी है कि न्यायालय के फैसले का सम्मान करें। उन्होंने उन लोगों पर तंज कसा जो लोग दोनों तरफ से आपसी भाईचारे के माहौल को तनाव पूर्ण बनाना चाहते हैं। नज़रे आलम ने कहा कि किसी भी बात से हताश होने की जरूरत नहीं है। देश सभी का है, रहेगा। सदियों के आपसी भाईचारे को बनाए रखना ही हमारा असल देश प्रेम है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आया है उस फैसले का सम्मान करते हुए भारत की एकता, अखंडा को बनाए रखने की ज़रूरत है। क्योंकि भारत लोकतांत्रिक देश है, सभी जाति, धर्म के लोगों का देश है इसे कमजोर करना देश को कमजोर करना होगा।