भगवान भास्कर को अर्घ्य कल, जानें सूर्योदय का समय

नई दिल्ली/ रोहित उपाध्याय। छठ पूजा के मौके पर लोगों में उत्साह का माहौल है। शनिवार शाम को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के बाद लोग कई जगहों पर जागरण कर रहे हैं और सूर्य देव से जल्दी उदय होने की प्रार्थना कर रहे हैं। शुक्रवार की शाम को खरना के बाद निर्जला व्रत शुरू हुआ था तो आज शनिवार की रात भी जारी है। आपको बता सेन कि छठी मइया की पूजा का व्रत 36 घंटे निर्जला रखा जाता है जो बेहद कठिन माना जाता है। छठ पूजा का सबसे अहम है व्रत के दौरान पवित्रता और भगवान सूर्य को अर्घ्य देना है। इस पूरे व्रत में दो बार अर्घ्य दिया जाता है। पहला अर्घ्य षष्ठी तिथि के दिन अस्ताचलगामी सूर्य को दिया जाता है। वहीं दूसरा अर्घ्य उदय होने वाले भगवान आदित्य को दिया जाता है। ऐसे में सूर्यास्त और सूर्योदय का समय जानना बेहद ज़रूरी हो जाता है। क्योंकि कई बार धुंध व बदली के चलते सूर्य भगवान उदय तो होते हैं लेकिन दिखाई नहीं देते ऐसे में सूर्योदय का टाइम देखकर ही अर्घ्य देने की रस्म पूरी की जाती है।

प्रसिद्ध ज्योतिषविद कृष्णा शर्मा के मुताबिक 3 नवंबर दिन रविवार को छठ सूर्योदय अर्घ्य का समय सुबह 06:34 बजे और सूर्यास्त: शाम 05:35 बजे है। उन्होंने बताया कि अर्घ्य के बाद पारण किया जा सकता है।