98 वर्ष की दादी अम्मा हरिनारायणी देवी, सिर पर गोमाता के लिए चारा, बेहद आश्चर्य- राम महेश मिश्र

नई दिल्ली। 98 वर्ष की दादी अम्मा हरिनारायणी देवी। सिर पर गोमाता का चारा, भूसे का बोरा। वे वैसे तो रोज़ मॉर्निंग वॉक में मिलती हैं। आज देखना आश्चर्यचकित करने वाला था।

हमने उत्तम स्वास्थ्य का राज दादी माँ से पूछा, तो वह बोलीं- प्रतिदिन गौसेवा, देशी गाय के दूध का सेवन, नियमित परिश्रम, व्यायाम, मॉर्निंग व ईवनिंग वॉक, सदैव ख़ुश रहना और अक्सर ठहाका लगाकर हँसना।

श्रीमती हरिनारायणी देवी जी मुझसे यह भी बोलीं कि बेटा! मैं 130 साल की उमर के पहले यहाँ से कहीं नहीं जाने वाली। बाद में पता चला कि वह आनन्दधाम में हमारी एक सहकर्मी बहिन की नानी-सास हैं। उम्र की पुष्टि उन्होंने भी की। बताया कि नानी-सास के बच्चे काफ़ी देर से हुए और मेरी सास (यानी कि दादी माँ की बेटी) कई भाई-बहिनों में उनकी सबसे छोटी सन्तान हैं और वह स्वयं 55 वर्ष पार कर चुकी हैं।

आनंद धाम नई दिल्ली के निदेशक श्री राम महेश मिश्र की कलम से।