हिंसा, आतंक, गरीबी और प्रदूषण के खिलाफ कई धर्मों के धर्मगुरु साझा करेंगे मंच

मुंबई/ अमित यादव। वर्तमान समय में विश्व की हालत बेहद गंभीर है| सीरिया, अफगानिस्तान से लेकर रूस व अमरीका तक हिंसा व दहशत का माहौल है| ऐसे समय में दुनिया की सबसे बड़ी संस्था संयुक्त राष्ट्र संघ तथा विश्व धर्म संसद भी अनेकांत दर्शन आधारित अंतर धार्मिक संवाद को अत्यधिक महत्व दे रहे है। इसी उद्देश्य से 13 अगस्त को प्रात: 9 बजे से NSCI Doom वर्ली मुंबई में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है|
इस आयोजन में देश व दुनिया के सभी धर्म गुरु एक साथ एक मंच पर एकत्रित होकर मानवता के हित में आग़ाज़ करेंगे। मुंबई में ऐतिहासिक सर्व धर्म सम्मलेन में एक मंच विश्व विख्यात आध्यात्मिक धर्म गुरू दलाई लामाजी,योग गुरू बाबा रामदेव जी,अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य डा. लोकेश मुनिजी, आचार्य कुलचन्द्र विजय जीमहराज, गुरूदेव नम्रमुनिजी महाराज, साध्वी मैनाश्री जी, अकाल तख़्त के प्रमुख जत्थेदार ज्ञानी गुरुबचन सिंह जी,मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ क्लबे सादिक़, आर्चबिशप फ़ेलिक्स व अनेक विचारक होंगे। इनके अलावा सम्मलेन में भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री श्री पीयूष गोयल, पर्यटन व सांस्कृतिक मंत्री डॉ महेश शर्मा, पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे
आचार्य लोकेश मुनि ने आज NSCI में आयोजित कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते  हुए कहा कि ‘हिंसा व आतंकवाद किसी समस्या का समाधान नहीं है। हिंसा प्रतिहिंसा को जन्म देती है| पर्यावरण प्रदूषण से भी वैचारिक प्रदूषण अधिक ख़तरनाक है। संवाद के द्वारा हर समस्या का समाधान मुमकिन है| आभाव व असमानता अनेक समस्याओं का मूल कारण है| जब सभी धर्म, संप्रदाय व जाति के लोग एक साथ मिलकर शांति व सद्भावना के साथ विकास के लिए कार्य करेंगे तो विश्व कल्याण निश्चित है|’ 
उन्होंने कहा कि सर्वधर्म सम्मलेन का मुख्य उद्देश्य है कि सभी धर्म के संत एक मंच से मानव कल्याण व मानव विकास की बात करें| अब समय आ गया कि हम आपसी मतभेद मिटाकर सभी वर्गों के उत्थान  के लिए कार्य करे| साथ ही आचार्य लोकेश मुनि ने मुम्बई वासियों को इस ऐतिहासिक अवसर को सफल बनाने के लिए पूरे उत्साह से जुटने का आह्वान किया। बैठक में मुम्बई के विभिन्न क्षेत्रों से बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।

“विश्व शांति और सद्भावना के लिए मुम्बई में अन्तर्राष्ट्रीय संवाद की तैयारियाँ ज़ोरों पर”

“आचार्य लोकेश ने कार्यकर्ताओं की ली बैठक और तैयारियों का लिया जायज़ा”