धूमधाम से निकली 251 महिलाओं की भव्य मंगल कलश यात्रा

लखनऊ । ‘नाचो गाओ खुशी मनाओं झूमो रे सब आज दादी आई है’ जैसे भजनों की बीच जब 251 महिलाओं की भव्य मंगल कलश यात्रा निकली तो हर कोई भक्ति के रंग रंग गया। जिधर गुजरी शोभा यात्रा उधर झुनझुन वाली दादी की जय जयकार रही। यह नजारा था श्री दादी जी परिवार मंगल समिति की ओर से दो दिवसीय झूला उत्सव आयोजन का। आयोजन के पहले दिन मंगलवार को कलश यात्रा निकाली गयी। कलश यात्रा समिति के सरंक्षक भारत भूषण गुप्ता, अध्यक्ष सुनील अग्रवाल, महामंत्री आशुतोष तुलस्यान की अगुवाई में ढलाईघर डालीगंज स्थित श्री भोलेश्वर महादेव मन्दिर से शाम 6 बजे प्रारम्भ हुई। कलश यात्रा डालीगंज चैराहा, नजीरगंज चैराहा, शंकरनगर, आठ नम्बर चैराहा होते हुये उत्सव स्थल माधव सभागार निरालानगर में समाप्त हुई। यात्रा में 251 महिलायें मंगल कलश लिए दादी के नाम का संकीर्तन व जयकारे लगाते हुये चल रही थी। राजधानी की भजन गायिका मंजू यादव और पवन मिश्रा दादी के सुन्दर सुन्दर भजनों की बारिश कर माहौल भक्ति से सराबोर हो रहा था। मंजू यादव ने जब ‘‘आई सावन की अजब बहार झूले मैया राणी सती’’ और ‘‘आज म्हारै आंगनिये में दादी जी पधारयां’’ सुनाया तो हर कोई झूमने पर मजबूर हो गया। कलश लेकर चल रही सैकड़ों महिलाओं के बच बीच जाकर मंजू ने जब यह भजन ‘‘आओ-आओ दादी आओ आयो तीजारो त्यौहार, करा सिंधारा थारा-थारी खूब करा मनुहार’’ गाया तो सभी भावविभोर हो गये। कलश यात्रा में यात्रा में श्री राणी सती जी का रथ आकर्षण का केन्द्र बना रहा। यात्रा में महिलाओं में द्रोपदी तुलस्यान, जमुना तुलस्यान, अंजू गुप्ता, प्रतिमा अग्रवाल, ऊषा अग्रवाल, पूनम अग्रवाल, सीमा अग्रवाल, रुचि तुलस्यान, चित्रा तुलस्यान, नीतू अग्रवाल, शशि अग्रवाल, ज्योति तुलस्यान, श्वेता तुलस्यान, मीनू अग्रवाल, माया अग्रवाल, खूशबू तुलस्यान मौजूद रही। यात्रा का रास्ते में करीब दो दर्जन स्थानों पर जोरदार स्वागत किया गया। समिति के अनिल अग्रवाल, सुनील तुलस्यान ने बताया कि उत्सव के दूसरे दिन 15 अगस्त को प्रातः 9 बजे श्री नारायणी चरित मानस पाठ से कार्यक्रम की शुरुआत होगी। पाठ को कानपुर के पाठ वाचक के0के0 तुलस्यान सम्पन्न करायेंगे। दोपहर 1 बजे 31 परिवारों द्वारा सवामणी भोग दादी को अर्पित किया जायेगा। शाम 7 बजे चुनरी उत्सव और रात्रि 9 बजे 108 परिवारों द्वारा छप्पन भोग लगेगा। सरंक्षक भारत भूषण गुप्ता ने बताया कि उत्सव में नृत्य नाटिका का मंचन और भजन संध्या का आयोजन भी होगा। 15 अगस्त को शाम 6 बजे कोलकाता के श्री संजय शर्मा की टीम द्वारा दादी जी के जीवन चरित पर आधारित नृत्य नाटिका ‘‘महिमा दादी की’’ का मंचन होगा। इसके अलावा मंजू यादव और पवन मिश्रा अपने सुन्दर भजनों से लोगों को रिझायेंगे। सरंक्षक भारत भूषण गुप्ता ने बताया कि जो महिलाएं कलश उठायेंगी उनमें से लकी ड्रा द्वारा 1 महिला को श्री दादी मां का चांदी का विग्रह भेंट स्वरुप प्रदान किया जायेगा। इसके साथ ही चुनरी उत्सव में जो भी परिवार श्री दादी मां को चुनरी चढ़ायेंगे उनमें से किसी एक परिवार को लकी ड्रा द्वारा श्री दादी मां की भारी चुनरी भेंट स्वरुप प्रदान की जायेगी।