केंद्र के इशारे पर अंशु प्रकाश ने रचा केजरीवाल को फंसाने का षडयंत्र: आप

नयी दिल्ली। आप ने दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित अभद्रता के मामले में पार्टी प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और कुछ विधायकों के खिलाफ पुलिस द्वारा दायर आरोपपत्र को केन्द्र सरकार की साजिश का हिस्सा करार दिया है। आप के प्रवक्ता सौरभ भरद्वाज ने आज आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं के करीबी रहे प्रकाश को दिल्ली सरकार को अस्थिर करने की योजना के साथ दिल्ली में तैनात किया गया था। उन्होंने कहा ‘‘प्रकाश ने इसके तहत ही गत 19 फरवरी को राजनिवास में उपराज्यपाल अनिल बैजल और वरिष्ठ पुलिस अफ़सर की मौजूदगी में प्रधानमंत्री कार्यालय के इशारे पर यह साजिश रची थी।’’

आप नेता ने कहा कि इससे पहले भी दिल्ली सरकार के मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ लगाये गये मुकदमे अदालती जांच में गलत साबित हुये। भारद्वाज ने कहा कि इस मामले में भी तमाम ऐसे बिंदु हैं, जिनसे यह साबित होता है कि प्रकाश ने राजनिति से प्रेरित होकर यह मामला दर्ज कराया है।
उन्होंने इसे शर्मनाक बताते हुये कहा ‘‘प्रकाश जनता के नहीं बल्कि केंद्र सरकार के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं। उनका मकसद घर पर राशन वितरण योजना और सीसीटीवी परियोजना सहित दिल्ली सरकार की हर प्रमुख योजना में बाधा उत्पन्न करना है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने प्रकाश पर कथित हमले के मामले में केजरीवाल के खिलाफ स्थानीय अदालत में आज आरोपपत्र दायर किया है।