अखाड़ा परिषद और नरेन्द्र गिरी खुद फर्जी हैं-स्वामी चक्रपाणि

लखनऊ। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद द्वारा अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि महाराज को फर्जी बाबा घोषित किए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए स्वामी चक्रपाणि ने आखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी को ही फर्जी करार दे दिया है। साथ ही कहा कि वह महंत गिरी को संत समाज से बाहर कर देंगे। एक न्यूज चैनल से बातचीत में स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि जब दूसरी सूची जारी हुई थी तभी मैंने कहा था कि अखाड़ा परिषद और नरेन्द्र गिरी खुद फर्जी हैं।उन्होंने कहा कि महंत गिरी के अखाड़े का कोई रजिस्ट्रेशन नहीं हैं। ऐसे में अखाड़ा से वैध कैसे हो गया।

उन्होंने कहा कि अब व्यक्ति जब पागल हो जाता है तो किसी पर भौंक सकता है. स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि जब दूसरी सूची जारी हुई थी तब मैंने उन्हें (महन्त नरेन्द्र गिरी) संत समाज से बाहर करने की चेतावनी दी थी. स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि तब मैंने कहा था कि मैं संत समाज का अध्यक्ष हूं, अगर फिर ऐसा हुआ तो संत समाज से बाहर कर दूंगा. अब मैं अखाड़ा परिषद् और उसके महंत नरेंद्र गिरी को संत समाज से बाहर ही कर दूंगा. बता दें कि आज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने फर्जी बाबाओं की तीसरी सूची जारी कर अखिल भारत हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि महाराज और श्री कल्कि फाउंडेशन के संस्थापक और कांग्रेस के सदस्य आचार्य प्रमोद कृष्णम को संत समाज से बाहर कर दिया. अखाड़ा परिषद का कहना है कि यह दोनों बाबा किसी संन्यासी परंपरा से नहीं आते।